किसान गेहूं कटाई के उपरान्त बचे हुए फसल अवशेष/खूंटी को खेत में आग न लगाए—एसडीएम अदिति।
April 18th, 2020 | Post by :- | 121 Views
अम्बाला (नारायणगढ़/शहजादपुर) अशोक शर्मा एसडीएम अदिति ने कहा कि 20 अप्रैल से गेहूं की सरकारी खरीद शुरू होगी जिसके लिए आवश्यक प्रबन्ध किए गए हैं। उन्होंने कहा कि इन दिनों गेहूं कटाई का सीजन जोरों पर हैं। सभी को चाहिए कि वे कोरोना वायरस से बचाव के लिए लॉकडाउन के नियमों का पालन करते हुए सोशल डिस्टेंसिंग का भी ध्यान रखे।
एसडीएम ने कहा कि किसान गेहूं कटाई के उपरान्त बचे हुए फसल अवशेष/खूंटी को खेत में आग न लगाए। हर किसान की यह जिम्मेदारी हैं कि वह पर्यावरण संरक्षण में अपना सहयोग दे और खुद व नई पीढी को सुरक्षित एवं स्वस्थ बनाए। चिकित्सकों के अनुसार वायु प्रदूषण से सांस, फेफड़ो से सम्बन्धित बीमारियां तो होती हैं, सामान्य स्वास्थय पर भी प्रतिकूल प्रभाव पड़ता हैं, जीवन प्रत्याशा में कमी व असमय मृत्यु भी हो सकती हैं। खेतों में आग लगाने से प्रदूषण के छोटे-छोटे कणों से हवा मेंं पी.एम 2.5 का स्तर अत्यधिक बढ़ जाता हैं इससे सिरदर्द और सांस लेने में तकलीफ होती हैं, अस्थमा और कैंसर जैसी बीमारियां भी हो रही हैं।
प्रभाव:- 1- गेहूं की खूंटी को जलाने से वायु प्रदूषण होता हैं।
2- मिट्टी की जैविक गुणवत्ता प्रभावित होती हैं।
3- मिट्टी में मौजूद कई उपयोगी बैक्टीरिया व कीट नष्ट हो जाते हैं।
उपाय:-
1- राष्ट्रीय कृषि नीति का पालन करें।
2-  फसल अवशेष/खूंटी को जलाने की बजाए इससे जैविक खाद बनाएं।
3- इसका अन्य उपयोग बायोमास एनर्जी, मशरूम की खेती करने आदि में करें।
फसल अवशेष जलाने पर हो सकती है जेल व जुर्माना- एसडीएम अदिति ने कहा कि हरियाणा राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा इस बारे में किसानों को समाचार पत्रों आदि, प्रचार माध्यमों के द्वारा भी जागरूक किया जा रहा है कि अगर कोई भी किसान/व्यक्ति खेतों में फसल अवशेष एवं गेहूं की खूंटी जलाता हैं तो उसके खिलाफ आई.पी.सी. की धारा 188 के तहत उसे 6 महीने की जेल व 15,000/- रूपये तक का जुर्माना अथवा दोनों हो सकते है।
कोरोना वायरस का फैलाव न हो और सोशल डिस्टेंसिंग बनी रहे इसी बात का ध्यान रखते हुए रबी सीजन में गेहूं खरीद के लिए क्षेत्र की अनाज मण्ड़ीयों के अलावा कुछ गांवों में स्थित राईस मिलों के अलावा अन्य स्थान निर्धारित किये गये है ताकि किसानों को भी गेहूं की फसल बेचने में कोई दिक्कत न आये।
   नारायणगढ क्षेत्र में गेहूं खरीद केन्द्र एसडीएम अदिति ने बताया कि नारायणगढ़ मार्किट कमेटी क्षेत्र में गेहूं खरीद नारायणगढ़ अनाज मण्ड़ी के अलावा एविन राईस मिल गांव बरसूमाजरा, चानना एग्रो इंडस्ट्रीज ब्रह्मामण माजरा, नरायण एग्रो इंडस्ट्रीज गांव ब्रह्मामण माजरा, शिवा राईस मिल गांव कुल्लड़पुर, कृष्णा एग्रो इंडस्ट्रीज गांव बड़ागांव, रामा राईस मिल गांव लाहा, मां बाला सुन्दरी राईस मिल गांव छज्जलमाजरा, मां भगवती एग्रो इंडस्ट्रीज गांव छज्जलमाजरा, श्री गणेश राईस मिल डैहर, महालक्ष्मी राईस मिल हडबोन, खरीद केन्द्र भरेड़ी कलां, चानन साह फूडस  गांव बख्तुआ, अम्बे राईस मिल बख्तुआ में गेहूं खरीद की जाएगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।