स्वास्थ्य स्क्रीनिंग के लिए मंण्डियों में भी तैनात किए गए हैं स्वास्थ्यकर्मी–मंण्डियों में अपनी फसल बेचने के लिए आने वाले किसानों को भी किया जा रहा हैं जागरूक:- डीसी।
April 17th, 2020 | Post by :- | 151 Views

अम्बाला, ( सुखविंदर सिंह ) उपायुक्त अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण के बचाव बारे जिला प्रशासन द्वारा बेहतर कदम उठाए गए हैं जो निरन्तरता में जारी हैं। शुक्रवार को सब्जी मंडी अम्बाला शहर में स्वास्थ्य विभाग द्वारा आढ़तियों व सब्जी विक्रेता (रेहड़ी, फड़ी वाले) की स्वास्थ्य स्क्रीनिंग करते हुए उनके स्वास्थ्य की जांच की गई। उपायुक्त ने स्पष्ट किया कि सब्जी मंडी में आम आदमी को सब्जी खरीदने की अनुमति नहीं है, केवल रेहड़ी-फड़ी वाले ही यहां से सब्जी खरीदकर अपने-अपने एरिया वार्डों मे सब्जियां बेच रहे हैं। उन्होंने कहा कि शनिवार को अम्बाला कैंट सब्जी मंड़ी में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा स्क्रीनिंग का कार्य किया जायेगा।
डीसी ने यह भी बताया कि संकट की इस घड़ी में पत्रकार साथी भी अपने दायित्व को बखूबी निभाते हुए आम जन तक सही एवं स्टीक सूचनाएं पहुंचाने का कार्य कर रहे हैं जोकि काफी सराहनीय है। पत्रकारों को भी सुरक्षा एवं स्वास्थ्य की दृष्टि से जिला प्रशासन द्वारा पीपीई किट उपलब्ध करवाई जायेगी। उन्होंने बताया कि इस किट को दिए जाने का उद्देश्य यही है कि पत्रकार साथी भी कवरेज के दौरान कोरोना संक्रमण से बच सकें । इसके साथ-साथ उन्हें मास्क व सैनीटाईजर दिये उपलब्ध करवाए जायेंगे। मीडिया के साथी भी कवरेज के दौरान सावधानी बरतें। हम सबको मिलकर कोरोना वायरस को भारत से हराने का काम करना है।
उपायुक्त ने जानकारी के क्रम में यह भी बताया कि मंडियों में सरसों व गेहूं खरीद कार्य को देखते हुए सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित की गई हैं ताकि किसानों को अपनी फसलों को बेचने में किसी भी प्रकार की परेशानी का सामना न करना पड़े। एहतियात के तौर पर मंडी में मास्क व सैनीटाईजर की व्यवस्था की गई है, किसानों से भी अनुरोध किया गया हैं कि वे मंण्डियों में अपनी फसल लाने के दौरान मास्क या फिर साफ कपड़े से अपना मुंह ढककर रखें। ट्रैक्टरों को भी सैनीटाईज करके ही मंडी में प्रवेश करने दिया जा रहा हैं। वही किसान मंडी में अपनी फसल लेकर आएं जिन्हें विभाग द्वारा फसल खरीद संबधी एसएमएस आया हो। उन्होंने कहा कि सुरक्षा व स्वास्थ्य की दृष्टि से हिदायतों की पालना करते हुए हम कोरोना संक्रमण को फैलने से रोक सकते हैं।
उपायुक्त ने यह भी बताया कि संकट की इस घड़ी में जिला प्रशासन के अधिकारी जहां अपनी डयूटी को बखूबी निभा रहे हैं वहीं स्वास्थ्य विभाग के डाक्टर, पैरामैडिकल स्टाफ, नर्स योद्धा के रूप में आगे आकर अपनी पूर्ण आहुति डालते हुए कोरोना संदिग्ध मरीजों का उपचार कर रहे हैं। जिले में 5 पोजिटिव केस हैं जिनका उपचार किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि जिस महिला का पिछले दिनों पोजिटीव सैम्पल आया था उसका सैम्पल अब नेगेटीव आ गया है। जल्द ही महिला को चिकित्सा परामर्श के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी जायेगी यानि जिले में 4 ही पोजिटीव केस रह जायेंगे। डाक्टरों द्वारा उनका भी ईलाज किया जा रहा है। इससे पहले भी डाक्टरों के अथक प्रयासों से दो कोरोना पोजिटीव मरीजों को ठीक करने में सफलता मिली है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।