391 भेजे गये सैम्पल में से 339 नेगेटिव, 49 की रिपोर्ट आनी शेष-उपायुक्त
April 17th, 2020 | Post by :- | 69 Views

यमुनानगर(सुरेश अंसल)। जिला यमुनानगर उपायुक्त मुकुल कुमार ने अपने कार्यालय में अधिकािरयों की बैठक ली व बैठक में जानकारी देते हुए बताया कि जिला में स्वास्थ्य विभाग द्वारा कुल 391 व्यक्तियों के सैम्पल भेजे गये हैं। जिसमें से 339 व्यक्तियों की रिपोर्ट नेगेटिव आई इसके साथ ही 49 व्यक्ति की रिपोर्ट आनी अभी बाकी है व 3 व्यक्ति कोरोना पोजिटिव पाए गए थे। जिनके दो बार सैंपल रिपोर्ट आने के बाद उनकी रिपोर्ट नेगेटिव पाई गई है और उन्हें कोविड अस्पताल से डिस्चर्ज कर 14 दिन के क्वारनटीन किया गया है। उन्होंने बताया कि जिला में कोरोना वायरस से लोगों को बचाने के लिए ईएसआई अस्पताल को कोविड अस्पताल बनाया गया है।

उपायुक्त ने 3 मई तक जारी लॉक डाउन के मद्देनजर केन्द्र व राज्य सरकार के आदेशों की अनुपालना के तहत जिला वासियों से अपील की है कि जिस प्रकार लोगों ने अभी तक संयम व दृढ़ निश्चय के साथ पिछले 21 दिनों के लॉक डाउन की पालना की है, उसी प्रकार अब 3 मई तक के लॉक डाउन के तहत भी सभी हिदायतों की पालना सुनिश्चित करते हुए स्वंय सुरक्षित रहें तथा दूसरों को भी सुरक्षित करने का कार्य करें।

उन्होंने कहा कि लॉक डाउन के चलते लोगों ने नियमों की पालना भी की है व वे सचेत भी हुए हैं। यही कारण है कि कोरोना संक्रमण के प्रभाव को कम करने में भी सफ लता मिली है। उन्होंने लोगों से आहवान किया कि लॉक डाउन के तहत सभी दृढ निश्चय व संकल्प के साथ मिलकर कार्य करें तभी हम कोरोना वायरस के चक्र को तोडऩे में कामयाब हो सकेंगे। उन्होने जिलावासियों से यह भी अपील की है कि सभी अपने हाथों को एक-एक घण्टे बाद साबुन से अपने हाथों को अच्छी तरह से धोएं और अपने हाथों को चेहरे पर न लगाएं। अपने आसपास सफाई रखें, दूसरें लोगों को सफाई के बारे में जागरूक करें तथा एक मीटर से ज्यादा की सामाजिक दूरी बनाकर रखें।
इस अवसर पर पुलिस अधीक्षक हिमांशु गर्ग जी, रादौर की एसडीएम पूजा चावरियां जी, नगराधीश भारत भूषण कौशिक जी, जिला राजस्व अधिकारी अभिषेक जी, जिला विकास एवं पंचायत अधिकारी शंकर लाल गोयल जी, सिविल सर्जन डॉ. विजय दहिया जी, डा. बागीस गुटैन जी सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।