कोरोना से निपटने के लिए जिला में मजबूत हुआ सुरक्षा चक्र : नरेश नरवाल
April 16th, 2020 | Post by :- | 56 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :- कोरोना के खिलाफ लड़ाई में हर जिलावासी की महत्वपूर्ण भूमिका, सुरक्षा चक्र को अभेद्य बनाने के लिए जिला में हुआ प्रशंसनीय कार्य | डीसी नरेश नरवाल ने कहा, पलवल में कोरोना के संक्रमण के अधिकतर मामलों में मरीज बाहर से आए, सभी जिलावासी अलर्ट पर रहें और बाहर से आने वालों की तुरंत प्रशासन को दें सूचना |

कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए पलवल जिला प्रशासन की ओर से ग्राऊंड रिपोर्ट तैयार करते हुए पूरा सुरक्षा चक्रमजबूत किया है। गांव-गांव व शहरी क्षेत्रों को नियमित रूप से सेनेटाइज करने के साथ जिला में एक मजबूत सूचना तंत्र विकसित हुआ है जिसके चलते बाहर से आने वालों को तुरंत स्वास्थ्य जांच के लिए लाया जा रहा है। जिला में कोरोना से बचाव के लिए सुरक्षा चक्र को और अभेद्य बनाते हुए जिला के हर घर तक स्वास्थ्य मानकों की अनुपालना सुनिश्चित की गई है।

उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि जिला के सभी तीनों उपमंडल पलवल, होडल व हथीन में स्वास्थ्य विभाग की ओर से भी इस दिशा में सकारात्मक कदम उठाए गए हैं। साथ ही आशा, एएनएम व आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं ने घर-घर तक लोगों को स्वास्थ्य मानकों का पालन करने के लिए सराहनीय कार्य किया है। ड्यूटी मजिस्ट्रेट्स व सुपरवाइजिंग अधिकारियों के साथ-साथ पुलिसकॢमयों ने भी इस दौरान उल्लेखनीय कार्य किया है। उन्होंने बताया कि जिला में आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति निर्बाध सुनिश्चित करने के लिए टीमों का गठन किया गया है तथा जरुरतमंदों को भी समय पर भोजन व राशन पहुंचाने का कार्य भी सुचारू रूप से जारी है।
डोर स्टेप तक पहुंची स्वास्थ्य सेवाएं

उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि कंटेनमेंट व बफर जोन में स्वास्थ्य कॢमयों ने प्रशंसनीय कार्य किया है। उसी तर्ज पर जिला के अन्य क्षेत्रों में स्वास्थ्य सेवाएं डोर स्टेप तक पहुंचाने के लिए 17 मोबाइल टीम कार्य कर रही है ताकि कोविड-19 के लिए बनाए गए सुरक्षा चक्र को और मजबूत किया जा सके। उन्होंने बताया कि इन दिनों फसलों की कटाई व मंडी में उपज लाने का कार्य आरंभ हो चुका है। इन महत्वपूर्ण कार्यों में आवश्यक स्वास्थ्य मानकों का पूरा ध्यान रखा गया है।
जिला की सीमाएं सील कर बढ़ाई चौकसी
उपायुक्त ने बताया कि जिला में अब तक सामने आए कोरोना संक्रमण के अधिकतर मामलों में यह स्पष्ट हुआ कि ज्यादातर मरीज पलवल जिला के बाहर से आए है। ऐसे में अब बाहर से भी कोई कोरोना का केस जिला में प्रवेश न कर पाए इसके लिए पूरी योजनाबद्ध तरीके से सजगता से कदम उठाए जा रहे हैं। जिला की सीमाओं पर चौकसी बढ़ा दी गई है। साथ ही गांव-गांव ठीकरी पहरे भी लगाए है। उन्होंने आमजन से अपील की कि वे घबराएं नहीं और कोई भी संदिग्ध मरीज की सूचना हेल्पलाइन नंबर्स पर उपायुक्त कार्यालय 01275-298052 (प्रात: 9 बजे से सांय 5 बजे तक), उपायुक्त कैंप कार्यालय 01275-248901, टोल फ्री हेल्पलाइन नंबर 1950, नागरिक अस्पताल  01275-240022 तथा 108 पर भी तुरंत दें और कोरोना के खिलाफ तैयार किए गए सुरक्षा चक्र को मजबूत बनाए रखें।
घर पर रहकर सुरक्षा चक्र की मजबूती बनाए रखें :
उपायुक्त नरेश नरवाल ने बताया कि लॉकडाउन 2.0 लागू होने से पहले ही जिलावासियों ने टीम वर्क के रूप में कार्य किया है और इसी की बदौलत अभी तक पलवल जिला को कोरोना से मुक्त बनाने का कार्य निरंतर जारी। उन्होंने कहा कि लॉकडाउन 2.0 अब 3 मई 2020 तक बढ़ाया है, ऐसे में हमें और ज्यादा सावधानी से सोशल डिस्टेंसिंग को अपनाते हुए घर पर रहकर सुरक्षा चक्र की मजबूती को बनाए रखना है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।