नालागढ़ उपमण्डल के संरोधन क्षेत्र में एक्टिव केस फाईडिंग अभियान का द्वितीय चरण- प्रशान्त देष्टा
April 16th, 2020 | Post by :- | 146 Views


कालूझिण्डा में 70 बिस्तर युक्त क्वारेनटाईन केन्द्र स्थापित

नालागढ़ ! नालागढ़ उपमण्डल में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले सामने आने के उपरान्त प्रदेश सरकार के दिशा-निर्देशानुसार संरोधन क्षेत्र (कन्टेनमेंट जोन) में एक्टिव केस फाईडिंग अभियान के द्वितीय चरण को लागू किया जा रहा है। यह जानकारी आज उपमण्डलाधिकारी नालागढ़ प्रशान्त देष्टा ने दी।
प्रशान्त देष्टा ने कहा कि उपमण्डल के संरोधन क्षेत्र में एक्टिव केस फाईडिंग अभियान के द्वितीय चरण को सुदृढ़ करने के लिए 100 और सरकारी कर्मियों को अभियान से जोड़ा गया है। उन्होंने कहा कि इन कर्मियों में विभिन्न विभागों के कर्मचारी शामिल हैं। पहले से ही अभियान के तहत 60 टीमें कार्य कर रही हैं।
उन्होंने कहा कि द्वितीय चरण में संरोधन क्षेत्र में सभी व्यक्तियों से खांसी, बुखार, जुखाम जैसे लक्षणों की जानकारी प्राप्त की जाएगी। उन्होंने कहा कि किसी भी व्यक्ति में इन लक्षणोें के पाए जाने पर उसके रक्त नमूनों की जांच की जाएगी और आवश्यकतानुसार उसे घर पर या संस्थागत क्वारेनटाईन किया जाएगा। यह भी सुनिश्चित बनाया जाएगा कि पूरे क्षेत्र में पूर्ण मैन टू मैन मार्किंग हो ताकि कोई भी जांच के दायरे से बाहर न रहे और कोरोना संक्रमण का कोई भी सम्भावित मामला छिपा न रह सके।
उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि इस कार्य के लिए टीमों को पूर्ण सहयोग प्रदान करें ताकि कोरोना संक्रमण को पूरी तरह रोका जा सके। उन्होंने कहा कि क्षेत्र में एक्टिव केस फाईडिंग अभियान के द्वितीय चरण की सफलता कोराना वायरस संक्रमण के समूल नाश में सहायक सिद्ध होगी।
उपमण्डलाधिकारी ने कहा कि संरोधन क्षेत्र में क्वारेनटाईन सुविधाओं को और मजबूत करने के उद्देश्य से कालूझिण्डा में 70 बिस्तर युक्त क्वारेनटाईन केन्द्र स्थापित किया गया है। यह चिकित्सा परीक्षण केन्द्र भी है।
प्रशान्त देष्टा ने कहा कि प्रदेश सरकार के निर्देशानुसार संरोधन क्षेत्र एवं बफर जोन में विभिन्न आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति होम डिलीवरी प्रणाली से तहत सुनिश्चित बनाई जा रही है। उन्होंने लोगों से आग्रह किया कि समूचे क्षेत्र में दिशा-निर्देशोे का पालन करें और अपने घर पर रहकर इस आपदा से निपटने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि सभी के सक्रिय सहयोग से ही कोविड-19 को हराया जा सकेगा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।