भुजिया व्यवसायी उड़ा रहे सोशल डिस्टनसिंग की धज्जियां।
April 15th, 2020 | Post by :- | 471 Views

बीकानेर,(मनीष)। भुजिया-पापड़ व्यवसाय को सरकार ने कुछ दिशा निर्देशों के साथ लॉकडाउन के दौरान व्यवसाय करने की छूट का कुछ भुजिया-पापड़ व्यवसायी द्वारा उलंघन किया जा रहा है जिससे कि सरकार द्वारा किये जा रहे कोरोना संक्रमण से बचाव के प्रयासों को धक्का लग रहा है। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार करणीऔधोगिक क्षेत्र स्थित एक प्रतिष्ठित भुजिया कम्पनी द्वारा मजदूरों को काम करने के लिए टैक्सियों में भर भर कर लाया जा रहा है। जिससे श्रमिकों में कोरोना संक्रमण का खतरा बना रहता है।सूत्रों ने बताया कि इस औधोगिक ईकाई में काम करने वाले अधिकांश श्रमिक बीछवाल स्थित रीको आवासीय क्षेत्र में निवास करते हैं, जिससे की रीको आवासीय क्षेत्र के स्थानीय लोगों में भी संक्रमण का डर बना रहता है।औधोगिक ईकाई के मालिक द्वारा ईकाई के अन्दर इन श्रमिकों के रहने व खाने की व्यवस्था न करने से बीछवाल औधोगिक क्षेत्र जो कि अभी संक्रमण रहित क्षेत्र है में भी संक्रमण का अंदेशा बना हुआ है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।