जिला के राजकीय वरिष्ठ उच्च विद्यालय कालका में 96 व्यक्तियों को क्वारंटीन किया हुआ है : उपायुक्त
April 2nd, 2020 | Post by :- | 179 Views
पंचकूला, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।   जिला के विभिन्न स्थानों पर बनाए अस्थाई आश्रय स्थलों में 392 व्यक्तियों को क्वारंटीन किया हुआ है। इन लोगों के स्वास्थ्य की जांच के लिए जिला प्रशासन द्वारा प्रत्येक केन्द्र पर दो-दो कांउसलर नियुक्त किए हैं ताकि वे लोगों को हर रोज मानसिक रूप से सशक्त बनाने की सलाह देते रहें।
उपायुक्त मुकेश कुमार आहूजा ने बताया कि कोरोना संक्रमण को लेकर कई व्यक्तियों के मन में भय का माहौल बना हुआ है और वे संक्रमित न होते हुए भी भयभीत रहने लगते है। इसलिए विशेषकर क्ंवारटीन में रखे गए व्यक्तियों को मानसिक रूप से सशक्त बनाने के लिए अनुभवी एवं प्रशिक्षित कांउसलर नियुक्त करने का निर्णय लिया है और प्रत्येक अस्थाई आश्रय स्थल में नियुक्त कर दिया गया है। यह कांउसलर क्वंारटीन किए लोगों को सक्रिय होकर मानसिक और बौद्विक रूप से मजबूत बनाने का कार्य करेंगें और जानकारी देकर जागरूक करेंगें।
उपायुक्त ने बताया कि जिला के राजकीय वरिष्ठ उच्च विद्यालय कालका में 96 व्यक्तियों को क्वारंटीन किया हुआ है। उनके लिए सुनील व नितिका को कांउसलर नियुक्त किया गया है। इसी प्रकार राजकीय उच्च विद्यालय मंढावाला में 30 व्यक्तियों के लिए सरीता, राजकीय वरिष्ठ उच्च विद्यालय रामगढ में 24 व्यक्तियों के लिए पूनम, राजकीय वरिष्ठ उच्च विद्यालय सैैक्टर 17 में 52 व्यक्तियों के लिए नीलम व  प्राजीत को सलाहकार नियुक्त किया गया है।
उन्होंने बताया कि सामुदायिक सैंटर राजकीय प्राईमरी स्कूल सैक्टर 20 में 51 व्यक्त्यिों  पर सपना व राजबीर , राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यायल सकेतड़ी में 5 व्यक्तियों के लिए अनुस बंसल तथा नाडा साहेब में क्वांरटीन किए गए 74 व्यक्तियों के लिए रचना, दीपक, व मिनाक्षी को कांउसलर नियुक्त किया है।
उपायुक्त ने बताया कि पंचकूला में 5 नशा परामर्श केन्द्रों को राज्य स्तर पर अनुमति प्रदान की गई है। इनमें सामान्य अस्पताल सैक्टर 6,  सत्य रानी रामपाल ट्रस्ट सैक्टर 12ए, लूना न्यूरोसाईकेट्रिक एवं परामर्श केन्द्र सैक्टर 12 ए , सर्वम न्यूरोसाईकेट्रिक केन्द्र कालका तथा डा. विनित यादव मांढावाला साईकेट्रिक केन्द्र को जिला में स्थित अस्थाई आश्रय स्थलों में सलाहाकार नियुक्त करने के लिए स्वीकृति प्रदान की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।