नशा करके तबाह कर लिया परिवार, पत्नी व पुत्र को उतारा मोत की घाट

नालागढ़ ! देशभर में चल रहे कोरोनावायरस का डर पूरी दुनिया में घर कर चुका है और उसी दौरान नालागढ़ क्षेत्र के जगतपुरा गांव में एक व्यक्ति ने सनसनीखेज घटना को अंजाम दे दिया गया है। रंजीत सिंह उम्र 45 साल जो कि जगतपुरा डाकखाना जोगो उपमंडल तहसील पंजेहरा नालागढ़ जिला सोलन का निवासी था । उसने नशे में बड़ी ही दरिंदगी के साथ अपनी पत्नी सुमति देवी (42)व अपने 22 वर्षीय पुत्र गगनदीप को मौत के घाट उतार दिया । पुलिस द्वारा मिली जानकारी के अनुसार रविवार शाम 4:00 बजे जब गांव के लोग घास लेने के लिए जा रहे थे। तभी रंजीत के घर से कुछ रोने की आवाज सुनाई सुनाई दी ।जिसमें ऐसा प्रतीत हो रहा था कि कोई व्यक्ति मदद के लिए बुला रहा है। जब गांव वालों ने अंदर जाकर देखा देखा उसकी पत्नी सुमति देवी व गगनदीप लहूलुहान थे। सुमति देवी तो मोके पर ही दम तोड़ चुकी थी लेकिन उसका बेटा गगनदीप अपनी अंतिम सांसे ले रहा था। गांव वासियों ने उसे पानी पिलाया लेकिन गांव वासी उसकी जान नहीं बचा पाए। इसी घटना की सूचना उन्होंने वार्ड पंच कर्म सिंह को दी और कर्म सिंह ने प्रधान सिकंदर और प्रधान ने तुरन्त पुलिस को दी। पुलिस ने मौके का निरीक्षण किया और सबूत जुटाने में लग गयी ।मौके से आरोपी रंजीत फरार था लेकिन गांव वालों की मदद से उसे पकड़ लिया गया है। मामले की पुष्टि करते हुए एएसआई दिलीप सिंह ने बताया कि उन्हें सूचना मिली थी कि रंजीत ने अपनी पत्निओर अपने बेटे को मौत के घाट उतार दिया है। उन्होंने बताया कि आरोपी रंजीत को हिरासत में ले लिया है और शवों को पोस्टमार्टम के लिए नालागढ़ भेज दिया है मौके निरीक्षण के अनुसार गगनदीप वसुमति देवी का कत्ल सिर पर वार होने की वजह से लग रहा है किसी तेजधार हथियार से सिर पर वार किए गए हैं और आरोपी रणजीत काफी समय से नशा करता था और पिछले महीने नशा छुड़ाओ केंद्र से घर वापस लौटा था उन्होंने कहा मामला दर्ज कर पुलिस छानबीन में जुट गई है।