मेडिकोलीगल केस होने के बाबजूद घायल को अस्पताल में भर्ती करने के बाद भी डाक्टरों ने पुलिस को सूचना देना तक नही समझा जरूरी
September 1st, 2019 | Post by :- | 106 Views

अलवर _ भरतपुर  , ( संवाददाता शोकत  अली  )  ।    राजस्थान में भरतपुर के तिलकनगर में रहने बाले दीपेश को सीने में लगी हुई बताई बंदूक की गोली लेकिन कैसे लगी इसकी नही है जानकारी किसी को। मेडिकोलीगल केस होने के बाबजूद घायल को अस्पताल में भर्ती करने के बाद भी डाक्टरों ने पुलिस को सूचना देना तक नही समझा जरूरी। अस्पताल में भर्ती होने के कुछ देर बाद ही अपनीं मर्जी से जब एक महिला दीपेश को लेकर अस्पताल से लगी जाने तो बार्ड स्टाफ ने किया एतराक जिस पर मचे हो हल्ला के बाद पता चला पुलिस को कि मामला है गम्भीर । अस्पताल पुलिस चौकी के अनुसार उन्हें नही मालूम कि मामला क्या है लेकिन इतना पता है कि सीने में गोली लगे दीपेश को एक महिला ऑटो में डाल लेगयीं अस्पताल से।

* “लोकहित एक्सप्रैस” में पत्रकार बनने के लिए सम्पर्क करें।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।