नर सेवा ही नारायण सेवा – एसडीएम प्रशांत देषटा।

नालागढ़ 28 मार्च 2020  ललित वर्मा/राज कश्यप

एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देषटा ने कहा कि कोरोना वायरस के कारण उत्पन्न परिस्थितियों में जरूरतमंदों, दुखियों तथा गरीबों की सेवा करना ईश्वर की सेवा करने के समान है जिसका फल किसी धार्मिक अनुष्ठान या पूजा पाठ द्वारा प्राप्त फल से कम नहीं है। यह विचार गत देर सांय एसडीएम नालागढ़ प्रशांत देषटा ने नालागढ़ में कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए उपमंडल प्रशासन की तैयारियों के विषय में जानकारी देते हुए व्यक्त किए।

उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के भविष्य में संभावित खतरे से निपटने के लिए नालागढ़ उपमंडल प्रशासन पूरी तरह से सजग है तथा बीबीएन सहित उपमंडल के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों की मूल आवश्यकताओं की आपूर्ति के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। प्रशांत देषटा ने बीबीएन क्षेत्र में देश के विभिन्न राज्यों तथा हिमाचल प्रदेश के विभिन्न हिस्सों के कार्यरत औद्योगिक कामगारों तथा अन्य अधिकारियों व कर्मचारियों से अपील की कि वे देश के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी तथा प्रदेश सरकार की अपील के अनुरूप आगामी आदेशों तक अपने घरों में रहें तथा किसी भी स्थिति में कहीं पर न जाएं।

उन्होंने कहा कि नालागढ़ उपमंडल में जरूरतमंद व्यक्तियों को उनके आवासों पर ही आवश्यकता अनुसार रोजाना भोजन उपलब्ध करवाया जा रहा है। प्रशांत देषटा ने बताया कि नालागढ़ उपमंडल में दो विभिन्न धार्मिक स्थानों पर 300 लोगों के ठहरने की व्यवस्था भी प्रशासन द्वारा की गई है जिसे आवश्यकता के अनुसार इस्तेमाल किया जा रहा है।

उन्होंने बताया कि नालागढ़ उपमंडल से कोई भी व्यक्ति कर्फ्यू अवधि के दौरान किसी भी आवश्यकता अथवा समस्या की स्थिति में पुलिस कंट्रोल रूम बद्दी के दूरभाष नंबर 01795271350, एसडीएम कार्यालय नालागढ़ के दूरभाष नंबर 01795 223 024 तथा तहसीलदार नालागढ़ के मोबाइल नंबर 98051 19444 पर संपर्क कर सकते हैं।

उन्होंने कहा कि खाद्य वस्तुओं की खरीदारी के लिए सुबह 8:00 बजे से 11:00 बजे, सब्जी मंडी के खुलने का समय सुबह 7:00 बजे से 11:00 बजे तक तक तथा दवाइयों की खरीद पर सुबह 10:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक कर्फ्यू में छूट दी जा रही है।
एसडीएम नालागढ़ ने क्षेत्र के लोगों से अपील की, कि वे इस राष्ट्रीय आपदा में सरकार के आदेशों की शत-प्रतिशत अनुपालना कर देश को इस आपदा से बाहर निकालने में अपना योगदान दें।