नैनी सेंट्रल जेल में मिलाई बंदफोन पर अपनों से बात कर सकेंगे बंदी
March 27th, 2020 | Post by :- | 87 Views

प्रयागराज। कोरोनावायरस के प्रभाव बढऩे से बेचैन बंदियों के लिए यह खबर राहत पहुंचाने वाली है। लॉकडाउन के कारण उन्हें मिलने के लिए उनके अपने भी जेल नहीं पहुंच पा रहे हैं। ऐसे में जेल प्रशासन ने बंदियों को अपनों से बात करने के लिए व्यवस्था में बदलाव किया है। अब बंदी सप्ताह में कई दिन परिजन, मित्र और परिचितों से फोन पर बातचीत कर सकते हैं। अभी तक सप्ताह में दो दिनों के लिए ही यह व्यवस्था थी। जेल प्रशासन ने मुलाकातियों की संख्या कम करने के लिए एक साल पहले केंद्रीय कारागार नैनी में पीसीओ स्थापित किया था। तब बंदी सप्ताह में केवल दो दिन ही अपनों से बात कर पाते थे। हालांकि बातचीत के लिए कुछ नियम भी बनाए गए हैं। कंप्यूटिंग पर होने वाली बात को अधिकारी तो सुनते ही हैं और उसकी रिकार्डिंग भी की जाती है। अब लॉकडाउन के चलते जेल में बंदी अपनों से मिल नहीं पा रहे हैं। उनकी इस परेशानी को देखते हुए जेल प्रशासन ने व्यवस्था बनाई है कि बंदी एक दिन में पांच मिनट तक फोन पर बात कर सकती है।

बोले डीआईजी जेल बीआर वर्मा

डीआईजी जेल बीआर वर्मा ने बताया कि बंदियों को राहत देने के लिए जेल के पीसीओ से दो दिन से अधिक का समय एक सप्ताह में देने की सुविधा प्रदान की गई है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।