शिक्षकों की लापरवाही से हो सकता है बड़ा हादसा
August 31st, 2019 | Post by :- | 131 Views

नंदगांव, मथुरा (राजकुमार गुप्ता )उत्तर प्रदेश के सरकार द्वारा शिक्षा के स्तर को उठाने के लिए जहां भरपूर प्रयास किया जा रहा है, वही शिक्षकों की लापरवाही दिन पर दिन बढ़ती जा रही है ,ऐसा ही एक मामला नंदगांव के प्राथमिक विद्यालय गोपाल बाग पर रोज नजर आता है | यहां शिक्षक 8:00 बजे तक भी प्राथमिक विद्यालय का ताला तक नहीं खोल पाते है सरकार विद्यालय खुलने का टाइम 7:00 बजे की  सीमा तय की गई है | वहीं शिक्षक 8:00 बजे तक भी विद्यालय नहीं पहुंच पाते वही बच्चो को घंटों तक विद्यालय के गेट पर खड़े होकर शिक्षकों का इंतजार करते हैं, और कुछ बच्चे विद्यालय के गेट का ताला लगा होने के कारण गेट पर चढ़कर दीवार पर से कूद कर अंदर जाते हैं जिससे कभी भी कोई बड़ा हादसा हो सकता है शिक्षकों की लापरवाही वह मनमानी यहां पर देखने को मिली है अगर किसी बच्चे को दीवार कूदने के कारण कोई हादसा होता है तो उसकी जिम्मेदारी किसकी होगी शिक्षक या प्रशासन सरकार तय करें प्राथमिक विद्यालयों में शिक्षकों की लापरवाही कोई नई बात नहीं है |प्रशासन शिक्षा अधिकारी को शिक्षकों पर विशेष ध्यान देने की जरूरत है शिक्षा अधिकारी से अनुरोध है कि प्राथमिक विद्यालयों में ऑनलाइन हाजिरी सिस्टम लागू किया जाए जिससे शिक्षकों की लापरवाही बल लेट लतीफी सामने आ सके जिन शिक्षकों पर देश के भविष्य की जिम्मेदारी है वही सरकार की योजनाओं को पलीता लगाने की कोशिश कर रहे सरकार को भी ऐसे शिक्षकों को छुट्टी कर नए व युवा शिक्षक को लाना चाहिए  जिससे शिक्षा के स्तर को बनाया जा सके |

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।