कोंडागांव में खुला बस्तरिया कैंटीन खाजा ठान, विधायक ने किया शुभारंभ
August 31st, 2019 | Post by :- | 174 Views

कोंडागांव(नरेश गोलछा )-बस्तर संभाग का पहला छत्तीसगढ़ बस्तरिया कैंटीन का शुभारंभ कोण्डागांव में विधायक मोहन मरकाम की उपस्थिति में हुआ।  रजबंधा तालाब के किनारे स्थित इस कैंटीन को खाजा ठान नाम दिया गया है जिसका हल्बी भाषा में अर्थ होता है भोजनालय। कैंटीन को महिला स्व-सहायता समूह शिव शक्ति  द्वारा चलाया जायेगा।

समूह की महिलाओं को शुभकामना देते हुए विधायक मोहन मरकाम ने कहा कि व्यंजन व्यवसाय में स्वाद की गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखा जाना चाहिए। ग्राहको को आकर्षित करने के लिए सफल व्यवसाय का यही मूलमंत्र है। उन्होंने महिलाओं को बधाई देते हुए कहा कि अब मुख्यालय के निवासी परम्परागत बस्तरिया एवं छत्तीसगढ़ी व्यंजनों का लुत्फ ले सकेंगे। जिला प्रशासन द्वारा स्व-सहायता समूह की महिलाओं को इसका जिम्मा देकर सराहनीय प्रयास किया गया है।

कलेक्टर नीलकंठ टीकाम ने मौके पर कहा कि कोण्डागांव जिले में पुरुषों से भी अधिक जनसंख्या महिलाओं की है और एक प्रकार से जिले की अर्थव्यवस्था पर महिलाओं का ही एकाधिकार है। जिला प्रशासन द्वारा जिले के महिलाओं को आत्म निर्भर बनाने के लिए कई प्रयास किए जा रहे है और इसके सकारात्मक परिणाम भी मिले है। उन्होंने आशा व्यक्त किया कि बस्तरिया कैंटीन जिले की महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण का प्रतीक बनेगा। उन्होंने नई पीढ़ी को परम्परागत छत्तीसगढ़ी एवं बस्तरिया व्यंजनो के स्वाद से परिचय कराने का आग्रह किया।

उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन, सिटी मिशन प्रबंधक इकाई नगरपालिका परिषद के तत्वावधान में उक्त कैंटीन को प्रारंभ किया गया है। जहां देशी मिष्ठान गुलगुला, भजिया, पीडिय़ा, अरसा, खाजा, खुरमी, चिला, फरा, पानरोटी आदि परोसे जायेंगे। कार्यक्रम में उपाध्यक्ष रवि घोष, उपाध्यक्ष नगरपालिका मनीष श्रीवास्तव, पार्षद तरुण गोलछा सहित अन्य जनप्रतिनिधि सहित समूह की महिलाएं उपस्थित थी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।