एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया प्रमुख वीरेश शांडिल्य का दफ्तर जलाने वाले आरोपी 31 अगस्त को होंगे अदालत में पेश
August 30th, 2019 | Post by :- | 94 Views

6 जून 2018 को सैंकड़ो भिंडरावाला समर्थको ने जलाया था शांडिल्य का दफ्तर

अम्बाला – एंटी टेररिस्ट फ्रंट इंडिया एव श्री हिन्दू तख्त के राष्ट्रीय प्रचारक वीरेश शांडिल्य का 6 जून 2018 को दफ्तर जलाने वाले 17 आरोपी आज सीजेएम अदालत अम्बाला में पेश होंगे । वीरेश शांडिल्य ने बताया कि 6 जून 2018 को जरनैल सिंह भिंडरावाला समर्थकों ने उनके दफ्तर के बाहर लगे बोर्डो को जलाया जिस पर अम्बाला पुलिस ने हरपाल सिंह पाली,सुखदेव सिंह गोबिंदगढ़,रणबीर सिंह फौजी,चरणजीत सिंह टक्कर व रविंदर सिह के खिलाफ 184/18 आईपीसी की धारा 435,426,506 के तहत मामला दर्ज किया था लेकिन आरोपियों को गिरफ्तार नही किया गया ।

एंटी टेररिस्ट फ्रंट इंडिया के प्रमुख व हिन्दू तख्त प्रचारक वीरेश शांडिल्य ने बताया कि जब अम्बाला पुलिस ने दफ्तर जलाने वाले आरोपियों को गिरफ्तार नही किया तो वह हरियाणा के तत्कालीन डीजीपी से मिले जिसमे उन्होंने उपरोक्त केस की जांच अम्बाला जिला से बाहर करने की मांग की थी जिस पर पुलिस महानिदेशक ने उनके लिखित अनुरोध को स्वीकार करते हुए एफआईआर 184 /18 की जांच कैथल पुलिस को सौप दी और कैथल पुलिस ने लंबी जांच के बाद आग लगाने के 17 आरोपियों के खिलाफ अम्बाला पुलिस को जांच रिपोर्ट सौप दी

शांडिल्य ने बताया कि कैथल पुलिस ने धारा 435, 427, 506 के इलावा 147 व 149 धाराओं को भी जोड़ा है व 6 जुलाई 2019 को अम्बाला पुलिस ने हरपाल सिंह पाली, सुखदेव सिंह गोबिंदगढ़,चरनजीत टक्कर,रविन्द्रपाल सिंह, रणबीर फौजी सहित 12 आरोपियों हरमीत सिंह,जितेन्द्रपाल सिंह,रणजीत सिंह,मंजीत सिंह,अमनदीप सिंह गुजराल,भूपेन्द्र सिंह चड्डा, तरविंद्रपाल सिंह,इन्द्रजीत सिंह, अमरपाल सिंह, जसविन्द्र पाल सन्नी,मनप्रीत सिंह,सतवंत सिंह के खिलाफ सबूत एकत्रित कर शिंकजा कसा था व उनका दफ्तर जलाने का आरोप सिद्ध होने पर इन्हें आरोपी बनाया था व आरोपियों के विरूद्ध सीजीएम अदालत में चालान पेश किया जिसमें अदालत ने सभी 17 आरोपियों को कोर्ट में पेश होने के लिए नोटिस जारी किया था।

शांडिल्य ने बताया कि आगजनी करने वाले तमाम आरोपी कोर्ट में पेश हो सकते हैं और वह अपने केस की पैरवी के लिए अदालत में अपने वकीलों के साथ मौजूद रहेगे व उन्हें अदालत से इंसाफ की पूरी उम्मीद है ।

ज्ञात रहे पिछले साल 6 जून 2018 को वीरेश शांडिल्य द्वारा 1984 ब्लू स्टार ऑपरेशन में भारतीय सेना द्वारा मारे गए जरनैल सिंह भिंडरावाला का पुतला जलाने का एलान करने के बाद भिंडरावाला समर्थकों ने शांडिल्य के कार्यालय पर लगे शहीदों व भारत माता के चित्र लगे होर्डिंग उतारकर चलाए व जरनैल सिंह भिंडरावाला जिंदाबाद के नारे लगाये l भिंडरावाला समर्थकों ने एकत्रित होकर कहा था की उन्होंने इंदिरा गाँधी नहीं बख्शी तो वीरेश शांडिल्य क्या चीज है व शांडिल्य को जिन्दा फूंकने की भी धमकी हरपाल सिंह पाली द्वारा दी गई थी l

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।