ऊर्जा मंत्री ने दुर्घटना मे मृत व्यक्तियो के परिजनो से मिल जताई संवेदना, हर संभव मदद का दिलाया भरोसा
February 29th, 2020 | Post by :- | 124 Views
बीकानेर, लोकहित एक्सप्रैस  ( रामलाल लावा )    ।      ऊर्जा, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला ने गत दिनों बीकानेर में राष्ट्रीय राजमार्ग पर एक ट्रैक्टर ट्रॉली द्वारा बारात में चल रहे लोगों को कुचलने की दुर्घटना में मृतक महिलाओं के घर पंहुचकर उनके परिजनों को संवेदना व्यक्त की। उन्होंने कहा कि मृतक के परिजनों को आर्थिक मदद दिलाई जाएगी और मृतका की पुत्री को पालनहार योजना से जोड़ा जाएगा। ऊर्जा मंत्री ने पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक को फोन कर दुर्घटना में घायल लोगों को बेहतर इलाज उपलब्ध करवाने के भी निर्देश दिए।
डॉक्टर कल्ला शनिवार को रेखाराम के घर गए और उन्होंने उन्हें ढांढस बांधते हुए कहा कि राज्य सरकार द्वारा जो भी
आर्थिक सहायता मृतक के परिजनों को दी जानी है, वह उपलब्ध कराई जाएगी। ऊर्जा मंत्री ने वहीं से पीबीएम अस्पताल के अधीक्षक को फोन पर कहा कि दुर्घटना में घायल हुए लोगों में से अभी भी एक बच्ची और एक अन्य व्यक्ति अस्पताल में भर्ती हैं, दोनों का इलाज बेहतर होना चाहिए। उनकी सभी तरह की जांच और दवाएं निशुल्क उपलब्ध हो। साथ ही वरिष्ठ चिकित्सकों द्वारा समय-समय पर उनके स्वास्थ्य का परीक्षण किया जाना भी सुनिश्चित किया जाए।
इस अवसर पर किसान नेता बल्लभ कोचर, राजस्थान प्रदेश युवा कांग्रेस के पदाधिकारी राहुल जादूसंगत सहित तुलसीराम चांवरिया, अजय सर्वटे, सुनील चांवरिया किलाराम आदि ने डॉक्टर कल्ला से कहा कि घायलों में 1 वर्षीय छोटी बच्ची, जिसकी माँ पूनम का इस दुर्घटना मंे निधन हो गया है, उसे राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से लाभ दिलाया जाए। कल्ला ने कहा कि बच्ची को सामाजिक न्याय अधिकारिता विभाग की पालनहार योजना अथवा शिशु गृह में रखे जाने की व्यवस्था से जोड़ा जाएगा। उन्होंने बताया कि शिशु गृह में रहने पर बच्चे की शिक्षा, आवास, भोजन और स्कूल की फीस और ड्रेस आदि सब राज्य सरकार द्वारा निशुल्क उपलब्ध करवाई जाएगी और बच्ची की बेहतर देखभाल भी होगी।

बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र में स्थित राजकीय विद्यालयों में नहीं रहेगी आधारभूत सुविधाओं की कमी-डाॅ.बी.डी.कल्ला

ऊर्जा, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला ने कहा कि बीकानेर पश्चिम विधानसभा क्षेत्र की किसी भी राजकीय विद्यालय में आधारभूत सुविधाओं की कमी नहीं रहने दी जाएगी राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सर्वोदय बस्ती में शीघ्र ही समसा के माध्यम से 5 नए कमरे का निर्माण करवाया जाएगा। डॉक्टर कल्ला शनिवार को आदर्श राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय सर्वोदय बस्ती में आयोजित वार्षिक समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। डाॅ. कल्ला ने कहा कि विद्यार्थियों को मन लगाकर पढ़ना चाहिए और पूरी शिद्दत के साथ खेल में भाग लेना चाहिए। स्वस्थ शरीर में ही स्वस्थ दिमाग रहता है और शरीर स्वस्थ रहें, इसके लिए खेलकूद में भाग लेना भी एक अनिवार्य पार्ट होता है। उन्होंने कहा कि विद्यार्थी जीवन में आपका सबसे अच्छा दोस्त आपकी किताबें हैं और सबसे अच्छा पथ प्रदर्शक आपका अध्यापक और आपके माता पिता हैं। ऐसे में आपको अपने गुरु और माता-पिता का सम्मान करते हुए शिक्षा ग्रहण में ही अधिक समय व्यतीत करना चाहिए। उन्होंने कहा कि समय का बेहतर प्रबंधन करने वाला विद्यार्थी ही जीवन में लक्ष्य को प्राप्त कर सकता है।

वार्षिक समारोह में छात्र-छात्राओं द्वारा प्रस्तुतियां दी गई और विद्यालय में पिछले वर्ष जिन छात्र-छात्राओं ने बोर्ड की परीक्षाओं में अव्वल स्थान प्राप्त किया था, उनको सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पार्षद जावेद परिहार ने सभी का स्वागत किया। इससे पूर्व ऊर्जा मंत्री डॉ कल्ला सहित  विद्यालय के प्रधानाचार्य और पार्षद जावेद परिहार आदि ने नवनिर्मित बरामदे का लोकार्पण किया।

इससे पूर्व डॉक्टर कल्ला ने राजकीय उच्च माध्यमिक विद्यालय नत्थूसर गेट (पुरानी डाई भवन स्थित) के वार्षिक समारोह में मुख्य अतिथि के रुप में बोलते हुए कहा कि विद्यार्थियों को चाहिए कि वह अपने स्कूल और कॉलेज में पढ़ाई के समय मोबाइल और टीवी से एक दूरी बनाए रखें। इनका उपयोग केवल ज्ञानार्जन के लिए ही किया जाए। अगर आपने टीवी और मोबाइल को अपनी शिक्षा से अधिक महत्व देना प्रारंभ कर दिया तो आपका परीक्षा परिणाम खराब हो जाएगा। ऐसे में आप बिल्कुल ध्यान केंद्रित कर मोबाइल और टीवी का उपयोग केवल शिक्षा के लिए अथवा प्रतियोगी परीक्षा के समय सामान्य ज्ञान के लिए करें तो यह आपके लिए बहुत उपयोगी होगा, नहीं तो मोबाइल और टीवी आपके लिए बिल्कुल बेकार है।
उन्होंने बहुत स्पष्ट शब्दों में छात्रों को कहा कि मोबाइल का अधिक उपयोग करने वाले छात्र अक्सर डिप्रेशन से ग्रसित हो जाते हैं, क्योंकि छात्र केवल मोबाइल के आस-पास ही अपना जीवन समझने लगता है, जबकि वास्तविकता में उसकी शिक्षा ग्रहण करने के बाद कैरियर बनाने के लिए उसका कंपटीशन जिला प्रदेश या देश के छात्रों के साथ ही नहीं बल्कि अंतरराष्ट्रीय स्तर के छात्रों के साथ होता है, ऐसे में उन्हें एकाग्रचित्त होकर केवल पढ़ाई पर ही ध्यान देना चाहिए।

मोटिवेशन गुरु की भूमिका में दिखे ऊर्जा मंत्री
स्कूल के वार्षिक समारोह में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे डॉक्टर बी डी कल्ला मोटिवेशनल गुरु की भूमिका में रहे। उन्होंने छात्रों से अपने संबोधन में दिए अंश के बारे में भी पूछा, तो वहीं बोर्ड की परीक्षाओं में किस तरह से अव्वल स्थान प्राप्त किया जाता है, इसके टिप्स भी दिए और बच्चों से पूछा कि कितने बच्चे आज के बाद मोबाइल और टीवी का उपयोग नहीं करेंगे हाथ उठाकर बताएं। उन्होंने कहा कि वार्षिक समारोह में जो स्मृति-चिन्ह उन्हें दिया गया है, वह स्मृति चिन्ह अगली बोर्ड की परीक्षाओं में जो छात्र अव्वल आए, उसे प्रधानाचार्य द्वारा भेंट किया जाएगा और उन्होंने अपना स्मृति चिन्ह स्कूल प्रधानाचार्य को सौंप दिया।

परोपकार से बड़ा कोई धर्म नहीं- डाॅ. बी.डी.कल्ला ऊर्जा, जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी मंत्री डाॅ. बी.डी. कल्ला ने कहा कि परोपकार से बड़ा कोई धर्म नहीं है और किसी को पीड़ा पहुंचाने से बड़ा कोई अधर्म नहीं है। पराई पीड़ा में पड़ने वाला व्यक्ति और समाज पूरे शहर और प्रदेश को एक नई दिशा देता है। राजपुरोहित समाज गरीब और जरूरतमंद व्यक्तियों को सहायता देकर उन्हें स्वालंबन की ओर ले जाता है, यह अपने आप में एक मिसाल है। डॉक्टर कल्ला शनिवार को स्थानीय टाउन हॉल में संत श्री खेतेश्वर मंदिर बीकानेर की सत्रहवीं मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर पीबीएम हैल्प कमेटी की ओर से आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे।

डॉ कल्ला ने कहा कि राजपुरोहित समाज अपनी गाढ़ी कमाई के पैसे का उपयोग परोपकार के प्रयोजनार्थ करते हैं। यह कार्य सज्जन पुरुषों द्वारा ही किया जा सकता है। उन्होंने कहा कि जो व्यक्ति और समाज अपनी विद्या, धन और शक्ति का उपयोग जनसेवा में करता है, वही दूसरों के दुखों को दूर करने के साथ-साथ जरूरतमंद व्यक्तियों को रोजगार से जोड़कर एक मिसाल भी कायम करता है।

समारोह के विशिष्ट अतिथि बाल श्रम बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष शिशुपाल सिंह राजपुरोहित ने कहा कि समाज हमेशा ऐसे कार्य तत्पर रहता है और बीकानेर में इस संस्थान की ओर से पिछले 7 वर्षों से ऐसे अनेक कार्य किए जा रहे हैं, जिसके हम जितनी तारीफ करें उतना ही कम है। विशेषकर समाज से जुड़े और अन्य लोगों द्वारा रक्तदान करना, प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं का सम्मान करना, गरीब और विधवा महिलाओं को स्वरोजगार से जोड़ने के लिए सिलाई मशीन उपलब्ध करवाने जैसे सामाजिक सरोकार के कार्य लगातार किए जा रहे हैं। दिल्ली दूरदर्शन के सहायक निदेशक ओम सिंह राजपुरोहित ने बताया कि पीबीएम हेल्थ कमेटी की ओर से इस बार आयोजित कार्यक्रम में मुझे रक्तदान करने का अवसर मिला, यह सब समाज के इन लोगों की प्रेरणा से ही हो सका।

संत श्री खेतेश्वर मंदिर बीकानेर की मूर्ति प्राण प्रतिष्ठा दिवस पर आयोजित समारोह में पाली के महावीर सिंह राजपुरोहित ने कहा कि राजपुरोहित समाज सामाजिक सरोकार के साथ साथ शिक्षा के क्षेत्र में भी कई कार्य कर रहा है। समाज को राज्य सरकार द्वारा बड़ली, जोधपुर में भूमि उपलब्ध करवाई गई है। यहां बच्चों के लिए एक आवासीय छात्रावास का निर्माण और पाठशाला बनाई जाएगी। इस अवसर पर डॉ बीएल खजोटिया, डॉ भंवरलाल राजपुरोहित, अलका डाॅली पाठक, सीताराम सिंह राजपुरोहित, दिनेश सिंह राजपुरोहित एवं अनिल चैहान ने भी विचार रखे।

समारोह का संचालन करते हुए सुरेंद्र सिंह राजपुरोहित ने बताया कि गत 7 वर्षों से संस्थान द्वारा समय-समय पर रक्तदान शिविर का आयोजन किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि राजस्थान में नवनिर्वाचित सरपंचों को स्वर्गीय राम सिंह जी राजपुरोहित देसलसर आत्मानंद गौरव सम्मान से सम्मानित किया गया। इसके साथ ही शिक्षा, कला, पेंटिंग, चिकित्सा और पत्रकारिता से जुड़े 125 लोगों को सम्मानित किया गया। इनमें डॉ अबरार अहमद पवार, उपनिदेशक जनसंपर्क विकास हर्ष, डॉ कपिल पारीक, गोपाल जोशी, प्रथम महिला फायर कार्मिक ममता बिनावरा सहित 125 प्रतिभाओं का सम्मानित किया गया। उन्होंने बताया कि आज के समारोह में 46 महिलाओं को सिलाई मशीन दी गई।

—–

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।