लोकहितैषी बजट में सरकार ने लिए साहसिक निर्णय : मनीष जैन
February 29th, 2020 | Post by :- | 88 Views
नूंह मेवात, लोकहित एक्सप्रैस ( लियाकत अली )  ।   मेवात भाजपा के जिला मीडिया प्रभारी मनीष जैन ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा पेश किया गया प्रदेश का बजट पूरी तरह लोक हितैषी है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने इस बजट में प्रदेश के सभी वर्गों का ध्यान रखा है । उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री द्वारा प्रस्तुत किए गए बजट में शिक्षा स्वास्थ्य और रोजगार पर विशेष ध्यान दिया गया है।
उन्होंने कहा कि हमारी सरकार कृषि को भविष्योन्मुखी बनाने तथा किसान की आय को दुगनी करने के राष्ट्रीय लक्ष्य के प्रति कृत संकल्प है। इस के लिए अधिक से अधिक मात्रा में फसलों की न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद के प्रयास किए जा रहे हैं। “मेरी फसल-मेरा ब्यौरा“ के ई-खरीद पोर्टल पर किसानों के पूर्व-पंजीकरण की प्रक्रिया अब काफी प्रचलित हो गई है। राज्य में कृषि उत्पादन के विपणन के लिए सिस्टम लिंकेज को सुचारू, पारदर्शी और किसान-हितैषी बनाने के उद्देश्य से 54 मंडियों को ई-नाम (राष्ट्रीय कृषि बाजार) योजना के साथ भी जोड़ा गया हैे। हरियाणा राज्य कृषि विपणन बोर्ड द्वारा पिंजौर में सेब मंडी, गुरुग्राम में फूल मंडी और सोनीपत में मसाला मंडी जैसी वस्तु विशिष्ट मंडियां विकसित की जा रही हैं।
मीडिया प्रभारी जैन ने कहा कि लोगों का जीवन स्तर ऊंचा उठाने के लिए भारतीय सर्वेक्षण विभाग के सहयोग से समूचे ग्रामीण, शहरी और आबादी देह क्षेत्रों की बड़े पैमाने पर जीआईएस मैपिंग की परियोजना शुरू की गई है। इस मानचित्रण से भूमि के सटीक सीमांकन, परिवर्तनों का पता लगाने, अतिक्रमणों की पहचान करने, आबादी देह और नगर पालिकाओं में प्रत्येक भूमि और संपत्ति की पहचान, करने में सुविधा होगी। 25 दिसम्बर, 2019 को करनाल जिले के गांव सिरसी से लाल डोरा मुक्ति की एक पायलट परियोजना शुरू की गई। 15 जिलों के 75 गांवों की ड्रोन फ्लाइंग की गई है, जिसके तहत इन जिलों के 5-5 गांवों को शामिल किया गया है। प्रथम चरण में सोनीपत, करनाल और जींद जिलों की सम्पूर्ण मैपिंग का कार्य वर्ष 2020-21 में शुरू करेंगें।
मनीष जैन ने कहा कि राज्य ने सभी स्वास्थ्य मानकों में महत्वपूर्ण प्रगति की है। वर्ष 2013 से लेकर वर्ष 2017 तक मातृ मृत्यु दर 127 से घटकर 98 रह गई है। बाल स्वास्थ्य देखभाल और टीकाकरण से प्रति हजार जीवित जन्मे बच्चों में से
पांच वर्ष से कम आयु के बच्चों की मृत्यु दर 45 से घटकर 35 रह गई है। प्रति हजार जीवित जन्मे शिशुओं की मृत्यु दर 41 से घटकर 30 तथा प्रति हजार जीवित जन्मे नवजात शिशुओं की मृत्यु दर 26 से 5 अंक घटकर 21 रह गई है। नवम्बर, 2019 तक संस्थागत प्रसूति 93.7 प्रतिशत
दर्ज की गई। ‘बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ’ कार्यक्रम की जबरदस्त सफलता से राज्य में वर्ष 2019 में जन्म के समय लिंगानुपात बढ़कर 923 हो गया ।
सभी गांवों को लाल डोरा मुक्त करने का प्रस्ताव है ।
उन्होंने कहा कि बेरोजगारी की समस्या का समाधान करना हमारी सरकार की प्राथमिकता रही है। हम इस दिशा में पिछले कार्यकाल में किये गये प्रयासों को निरंतर जारी रखते हुए नई पहल भी करेंगे। आगामी बैसाखी के दिन एक नए रोजगार पोर्टल का आरम्भ किया जाएगा, जिसमें हरियाणा के उन युवाओं का विवरण होगा जिन्होंने पिछले 3-5 वर्षों में किसी भी प्रकार का दीर्घकालिक प्रशिक्षण और कौशल प्राप्त किया है। इसमें रोजगार कार्यालयों में पंजीकृत उम्मीदवारों के साथ-साथ आईटीआई, पॉलीटेक्निक, उच्च शिक्षा
महाविद्यालय, तकनीकी शिक्षा महाविद्यालय, अल्पावधि कौशल प्राप्त उम्मीदवार शामिल होंगे। ऐसे सभी उम्मीदवारों को रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाने के लिए सरकार नियोक्ताओं और जॉब एग्रीगेटर के साथ। भागीदारी करेगी, जो हमारे युवाओं को लाभप्रद रोजगार प्रदान करने के प्रासंगिक स्रोत होंगे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।