सामूहिक विवाह 64 जोड़े दांपत्य सूत्र में बंधे
February 27th, 2020 | Post by :- | 85 Views

कोसीकंला,मथुरा(राजकुगुप्ता) प्रभात जागृति मंच द्वारा आयोजित अष्टम सामूहिक विवाह संपन्न हुआ नव जोगल जोड़ों को उसी की जनता ने खूब सारा प्यार दिया। बरात का जगह-जगह जोरदाााार स्वागत हुआ |प्रभात जागृति मंच एवं जय शनिदेव राष्ट्रीय सेवा समिति के संयुक्त तत्वावधान में अष्टम् हिंदू सर्वजातीय आदर्श सामूहिक विवाह समारोह में गांधी चिकित्सालय नगर पालिका परिसर में सुबह नौ बजे से ही वर-वधुओं के रिश्तेदारों का पहुंचना शुरु हो गया था । शादी का मुहूर्त हुआ तो लाल जोडे में सजी धजी दुल्हनें मंडप पर पहुंची । आचार्यो ने हिंदू सनातन धर्म से वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच सभी वैवाहिक रस्में पूर्ण कराई । नगर पालिका के प्रांगण में 64 मंडप बनाये गये । ढोलों की धुन पर लोग थिरके व्यंजन चखे और फिर भांवरे पडीं । प्रभात जागृति मंच ने अग्नि को साक्षी मनवा कर उन्हें विवाहिक मान्यता दी । बाद में वर कन्या को गृहस्थी का सारा सामान देकर विदा किया गया । विवाह समारोह में वर पक्ष एवं वधू पक्ष के लोगों के साथ साथ अपार भीड का रैला था । शहर में निकली बारात में बराती के रूप में महिलाएं, पुरुष, बच्चों ने बढ-चढ कर भागीदारी की । इस मौके पर जीएलए यूनीवर्सिटी के सचिव नीरज अग्रवाल ने कहा कि सामूहिक विवाह सम्मेलन समाज में फैली दहेज और फिजूलखर्ची जैसी कुप्रथाओं को दूर करने में सहायक सिद्ध होते हैं । इनको बढावा दिया जाना चाहिए । सम्मेलन में राम निवास गोयल पूर्व विधानसभा अध्यक्ष दिल्ली, जिला पंचायत सदस्य नरदेव चैधरी, पालिकाध्यक्ष नरेंद्र कुमार इंजी., पूर्व चेयरमैन भगवत प्रसाद रुहेला, भाजपा नेता तरुण सेठ, धर्मवीर अग्रवाल, कमल किशोर वाष्र्णेय, पं. जगदीश सुपानिया, मुकेश जैन, संजीव जाबिया, देशवंधु अग्रवाल, मूलचंद कर्दम, विष्णु स्वरूप मित्तल, कैलाशचंद सरार्फ, हरीसिंह पटेल, योगेश शर्मा स्वायत्त शासन महासंघ उ.प्र. सहित सैकडों लोग मौजूद थे। समारोह की व्यवस्था जमुना प्रसाद मिश्रा, संजय आरोडा, नितिन ढल, पं. विवेक उपाध्याय, संजय गोयल, सौरभ्श्रा बिछोरिया, बिहारी लाल पूर्व सभासद, मनीष बठैनिया, विष्णु अग्रवाल, हिमांशु सक्सैना, ममता सक्सैना, रोहताश सुपानिया, चेतराम गौड, मनीष अग्रवाल, महेंद्र मंगला, यादराम मैथिल, मनोज शर्मा, चंदन शर्मा, निर्भय पटेल, प्रसून जैन, राकेश गर्ग, श्रीमती आर पी पठानिया,और अनेक समाजसेवी मौजूद रहे

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।