आँतकवाद के खिलाफ पंजाब पुलिस को उठाना होगा कड़ा कदम
February 25th, 2020 | Post by :- | 87 Views

डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता के ब्यान का मैं सर्मथन करता हूँ : भूपिन्द्र मेहरा

चंडीगढ़ (मनोज शर्मा)हिन्दु हृदय सम्राट शिवसेना नेता भूपिन्द्र मेहरा ने डीजीपी पंजाब दिनकर गुप्ता के उस ब्यान जिसमें उन्होंने कहा था कि करतारपुर साहेब दर्शनो हेतू सुबह को जाने वाला हर खालिस्तानी समर्थक शाम को आतंकी बनकर लौटता है का पूर्ण समर्थन करते हुए कहा कि केंद्र सरकार और पंजाब के मुख्यमंत्री सरदार कैप्टन अमरिंदर सिंह को डीजीपी पंजाब के इस ब्यान को मुख्य रखते हुए तुरंत ही करतारपुर कॉरिडोर पर नजऱ कड़ी कर देनी चाहिए । पंजाब में जो इस समय माहौल आतंकियों द्वारा बनाने का प्रयास किया जा रहा है वह सिर्फ भारत को अस्थिर करने के लिए पाकिस्तान में बैठे खालिस्तानी आतंकियों और पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आई. एस.आई के कहने पर किया जा रहा है। इस अवसर पर पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंद्र जी को डी जी पी दिनकर गुप्ता के पूरी गम्भीरता से दिए उस इंटरव्यू को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए क्योंकि दिनकर गुप्ता जी ने लम्बे समय तक इंटैलिजैंस विंग में कार्य किया और वह पंजाब की सच्चाई को अच्छी तरह समझते हैं ओर पंजाब के उस काले आंतकवाद के दौर में भी उन्हे कार्य करने का पूरा अनुभव प्राप्त है उनका यह ब्यान से पंजाब में ऊभर रहे आंतकवाद की सच्चाई सामने आई है और वह पंजाब की सच्चाई अच्छी तरह समझते हैं इसलिए यदि करतारपुर कॉरिडोर के लिए पंजाब सरकार और केंद्र सरकार द्वारा अगर कोई ठोस रणनीति तैयार न की गई तो जल्द ही पंजाब में आंतकवाद को अनजाने में मौका मिलेगा क्योंकि पंजाब में आंतकी समय समय पर हिन्दू नेताओं और शिवसेना नेताओं पर गोलियां चलाकर मौत के घाट उतार कर दहशत का माहौल बना रहे हैं अगर सरकारे समय रहते सचेत ना हुई और एक तजुर्बेकार पुलिस अधिकारी के दिए ब्यान गम्भीरतपूवक ना लिया तो कहीं पंजाब में भी हिंदुओं को कश्मीर की तरह पंजाब से पलायन ना करना पड़े क्योंकि खालिस्तानी समर्थक आंतकी और इस्लामिक मुस्लमान घुसपैठिए एक साथ मिलकर पंजाब में आने वाले समय में हालात खराब कर सकते हैं उन्होंने कहा कि पहले ही गरदासपुर में हरविंदर सोनी, अब धारीवाल में शिवसैनिकों पर गोलियों से हमला किया गया जिससे एक घायल और एक की मौत हो गई थी और कल फिर लुधियाना में शिवसैनिक अमित अरोड़ा पर सरेआम गोलियां चलाई गई जो उनकी गाड़ी में लगीं इससे साबित होता है कि पंजाब में दिनों दिन हिंदुओं में खौफ़ का माहौल बनाया जा रहा है और पंजाब सरकार इन घटनाओं को आपसी दुश्मनी या गैंगटरों के द्वारा की जा रही घटनाएं साबित करने का जोर लगा रहीं है इससे आंतकवादी मजबूत हो रहे है और केंद्र सरकार खालिस्तानी वोट प्राप्त करने के लिए मूकदर्शक बनकर तमाशा देख रही है। हिन्दु नेता भूपिन्द्र मेहरा ने कैप्टन सरकार से मांग की कि वे पंजाब के हिंदुओं और शिवसेना के नेताओं की सुरक्षा के लिए विशेष रणनीति तैयार करें या उन्हे अपनी रक्षा करने के लिए हथियारों के लाईसैंस दिए जाएं और यदि पंजाब सरकार और केंद्र सरकार ने डीजीपी पंजाब के इस बयान को नजर अंदाज किया तो इसका खामियाजा सरकारों को भुगतना पडेगा क्योंकि पंजाब में खालिस्तानी आतंकी पाकिस्तान से पैसा बटोर कर घुसपैठिये मुसलमानों को भी ताक़त देकर हिंदुओं के खिलाफ प्रयोग कर सकते हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।