पहाड़ी लोक गायक हीरालाल जोशी की नाटी को लोग सुनते है बड़े चाव के साथ
February 24th, 2020 | Post by :- | 705 Views
निरमंड :-(दिलाराम भारद्वाज ब्यूरो चीफ )आनी के साथ लगती  तै-निरमंड के  गॉंव पजेण्डा और आजकल उपमंडल आनी मे दुकान करने वाले हीरालाल जोशी जो की माता दसमू  देवी  व पिता राशू राम के घर जन्मे लोक गायक को बच्चपन से ही गाने का बहुत शौक था इसी मुकाम को हासिल करने के लिये हीरालाल ने 1996 मे पहली एलबम ‘ तमन्ना , को लोगों के सामने रखा तो लोगों से बहुत ही वाह- वाही पाई ।

उसके बाद इन्होंने 1998मे आकशवाणी शिमला से अपनी इनकी पहाड़ी नाटी का कार्यक्रम लगातार प्रसारित होता रहता है । और दूरदर्शन शिमला से भी तथा आस्था चेनल से भजन मे भी अच्छी पकड़ रखते है ।
और नाटीयाँ स्वमं रचित होती है । और ये नटियों को आनी मे अपनी दुकान मे ही तैयार करता है
ये अपनें प्रेरणा स्त्रोत श्री गुलाब जन्देवा जो की स्वमं संगीतकार है को मानते है । और ये आनी के स्थाई निवासी है। इनकी नाटी मे मुख्य पहाड़ी नाटी ‘ लामी लासरे  देवकु, चानणु फेटि कुल्ला रा पानी व शिवरात्रि मे गाये जाने वाले शिव भजन (जती) आदि बहुत सारे गाने गाते है ।
ये कई जिलों मे स्टेज पर प्रोग्राम दे चुके है । और लोग इन्हें बहुत ही चाव से सुनते है । और हीरालाल ने एक चेनल (जोशी प्रोडक्शन) के नाम से भी चला रखा है ।
आजकल इनका पहाड़ी गीत शोभि- प्रेमी नया ही निकला है ।और हीरालाल का कहना है की भविष्य मे आने वाली ‘लाड़ी धूर्मू , की नाटी की आजकल पूरे जोरों – शोरों से तैयारी मे लगा हूँ जो की अगले महीने ही लोगों को सुनने को मिलेगी ।
dilarambhardwaj

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।