प्रदेश सरकार द्वारा रेगुलर शिक्षक भर्ती फैसले का स्वागत : बेरोजगार संघ
February 23rd, 2020 | Post by :- | 3712 Views

लोकहित एक्सप्रेस :- प्रदेश सरकार के रेगुलर शिक्षक भर्ती के फैसले का स्वागत हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ। मीडिया के हवाले से खबर मिली है कि राजकीय अध्यापक संघ ने एसएमसी के स्थान पर रेगुलर भरती ना करने की सिफारिश की है।

बहुत खेद हो रहा है कि राजकीय संघ रेगुलर भरती ना हो की सिफारिश कर रहा है। हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ प्रदेशाध्यक्ष से पूछना चाहता है कि क्या सरकार रेगुलर भरती ना करे ओर शिक्षा विभाग को एसएमसी के हवाले छोड़ दें? क्या एसएमसी स्टॉप गैप अरेंजमेंट नहीं था! माननीय उच्च न्यायलय ओर सुप्रीम कोर्ट के आदेशों की अवहेलना करना चाहता है राजकीय अध्यापक संघ! आगे राजकीय संघ स्वयं मान रहे है की रेगुलर शिक्षक हिमाचल प्रदेश की दूरदराज के खसेत्रो मै सेवा नहीं देना चाहते! ये हिमाचल के लीये शर्म की बात है कि ये लोग शिक्षा विभाग मै अपनी मर्जी से एकाधिकार मान कर सेवा दे रहे है।

राजकीय शिक्षा संघ के दूरदराज के एरिया में सेवाएं न दे कर एसएमसी जैसी पॉलिसी का जन्म हुआ है। खेद है हमें की ऐसे राजकीय शिक्षक संघ हिमाचल प्रदेश मै पदाधिकारी है जो कानून को अपनी कतपुटली समझे बैठे है। राजकीय संघ दूरदराज के क्षेत्रों में सेवा देता तो ये एसएमसी जैसी समस्या आज ना होती। दूसर ी बात एसएमसी पॉलिसी मै लिखा है कि रेगुलर टीचर आते ही इनको अपना पद छोड़ना पड़ेगा।सरकार रेगुलर भरती करे ये हिमाचल प्रदेश सरकार का प्रशनशनीय कार्य है। हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ सरकार के रेगुलर भरती टीचर्स के निर्णय का स्वागत करता है।मै इस बयान का विरोध ओर निंदा भी करता हूं।एसएमसी टीचर्स प्रदान मनोज सरकार को रेगुलर भरती करने से मना कर रहे ।मतलब ये चाहते है कि शिक्षा विभाग मै बैकडोर भरती हो! लिख रहे हैं” रोजगार छीनकर वेरोजगर कर दिया” ये भूल गए कि एसएमसी पॉलिसी से हजारों को बेरोजगार कर ये मतलबपरस्त लोग विभाग मै बेरोजगारों के रोजगार पर कुंडली मार कर बैठे थे।

शिक्षा मंत्री ने क्या कहा क्या भी कहा!! पॉलिसी मै तो लिखा है ना कि रेगुलर अध्यापक आने पर एसएमसी को पद छोड़ना पड़ेगा।मनोज जी ने शायद ज्वाइन करते टाइम एसएमसी पॉलिसी को पड़ा नहीं था। आगे श्री मान लिख रहे है कि को” पोस्ट भरने की अधिसूचना हुई है उसे सरकार वापिस ले” मतलब ये श्री मान नहींं चाहते की शिक्षा विभाग मै टीचर्स अपॉइंटमेंट रेगुलर बेस पर हो। मै इनको कहना चाहता हूं कि की सरकार अब व्ही करने जा रही है है को सरकार को बहुत पहले करना चाहीए था।

एसएमसी पॉलिसी के कारण पहले ही स्कूल नुकसान झेल रहे है।अब ओर नुकसान नहीं होने देंगे शिक्षा विभाग का।रेगुलर टीचर्स अपोंटमेंट स्कूलों में होंगी ओर हम करवा के रहेंगे।जो कुंडली मार के बैठे है इनको अब अपना स्थान छोड़ना होगा। जय हिन्द ।शिक्षा विभाग मै अब बैक डोर नहीं चलने देंगे
अध्यक्ष हिमाचल प्रदेश बेरोजगार संघ कुलदीप मनकोटिया

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।