कबिंग गतिविधियों में जींद को प्रथम शील्ड से किया सम्मानित महामहीम राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने राजेश वशिष्ठ सहित कब- बुलबुल को किया सम्मानित
February 22nd, 2020 | Post by :- | 177 Views

जींद, लोकहित एक्सप्रेस , (सैनी)।  मन में कुछ करने का जनून हो तो सफलता जरुर मिलती है ।यह एक बार फिर से सिद्ध करके दिखा दिया जिला संगठन आयुक्त राजेश वशिष्ठ ने । हरियाणा के राजभवन में आयोजित हरियाणा राज्य भारत स्काउट एवं गाइड के वार्षिक पारितोषिक समारोह में राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने जींद की कब बुलबुल गतिविधियों के श्रेष्ट प्रदर्शन के कारण प्रथम शील्ड देकर सम्मानित किया ।सत्यदेव नारायण आर्य ने यह शील्ड जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी दिलजीत सिंह व जिला संगठन आयुक्त राजेश वशिष्ठ के कुशल नेतृत्व में कब गतिविधियों में प्रथम स्थान आने पर यह सम्मान दिया ।राजेश वशिष्ठ ने बताया की जींद जिले की कब बुलबुल गतिविधियाँ लगातार अपनी मेहनत के बलबूते पर अपनी प्रतिभा को दिखा चुकी है ।जिले की ये गतिविधियाँ औरो के लिए प्रेरणा का कार्य कर रही है ।उन्होंने बताया की ये शील्ड उनके द्वारा वर्ष भर में किये गये श्रेष्ट कार्यों के कारण प्रदान की गई ।जींद की कब बुलबुल गतिविधियाँ राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर अपनी पहचान बनाये हुए है । इन गतिविधियों में रक्तदान ,पेड़ लगाओ ,पर्यावरण ,खेल खेल में शिक्षा देना ,इंट्रोडेक्ट्री केम्पो का आयोजन करके जल बचाओ अभियान ,कन्या भ्रूण हत्या विरोधी जन जागरूकता अभियान ,स्कूल न जाने बच्चों की पहचान करके उनको स्कूल में दाखिला दिलाना ,प्लस पोलियो अभियान को सफल बनाने में योगदान देना अभियान को सफल बनाने में महत्वपूर्ण कार्य किया ।जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी दिलजीत सिंह ने बताया की जिले की कब बुलबुल गतिविधियों ने न केवल अपने देश में बल्कि साउदी अरब में भी अपनी प्रतिभा का डंका बजाया है ।छोटे छोटे बच्चों के सर्वांगीण विकास में महत्वपूर्ण योगदान रहा है ।राज्यपाल सत्यदेव नारायण आर्य ने पुरे वर्ष में श्रेष्ट कार्य करने पर राजकीय प्राथमिक स्कूल रविदास बस्ती सफीदों के छात्र अमित को बेस्ट कब ओर सुप्रीम स्कूल की लक्षिता को बेस्ट बुलबुल अवार्ड से सम्मानित किया ।उप जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी सुभाष भारद्वाज को थेंक्स बैज अवार्ड से सम्मानित किया । जिला संगठन आयुक्त राजेश वशिष्ठ ने बताया की इन गतिविधियों से प्राथमिक कक्षाओं के बच्चों को राज्य एवं राष्ट्रीय स्तर पर आगे बढ़ने का मौका मिलता है ,बच्चों में आगे बढ़ने की लालसा होती है ।आज स्कूलों में अनुशासन हीनता की बाते देखने को मिलती है यदि बच्चे ने इन गतिविधियों में भागीदारी ली है तो बच्चे में संस्कार आयेंगे । जींद जिले को लगातार कई वर्षों से श्रेष्ट कार्यों के कारण प्रथम शील्ड पुरस्कार मिल रहा है जो काबिलेतारीफ है ।शिक्षा विभाग में ख़ुशी की लहर है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।