हरियाणा के भूतपूर्व मंत्री चौधरी खुर्शीद अहमद, भूतपूर्व विधायक चौधरी उदय सिंह दलाल समेत राज्य की अन्य दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि
February 20th, 2020 | Post by :- | 95 Views

चंडीगढ़, ( महिन्द्र पाल सिंहमार )    ।    हरियाणा विधानसभा में आज बुलाए गए अधिवेशन में हरियाणा के भूतपूर्व मंत्री चौधरी खुर्शीद अहमद, भूतपूर्व विधायक चौधरी उदय सिंह दलाल समेत राज्य की अन्य दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि अर्पित की गई।

श्री मनोहर लाल, जो सदन के नेता भी हैं, ने पिछले सत्र के अंत से लेकर इस सत्र के आरंभ तक की अवधि के दौरान मृत्यु को प्राप्त हुए हरियाणा के भूतपूर्व मंत्री चौधरी खुर्शीद अहमद, भूतपूर्व विधायक चौधरी उदय सिंह दलाल समेत स्वतंत्रता सेनानी, हरियाणा के शहीदों तथा हरियाणा विधानसभा सदस्यों के निकट संबंधियों को भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की।  हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने भी शोक प्रस्ताव पढ़े और विधानसभा सदन में दी गई श्रद्धांजलि व शोक प्रस्तावों को शोक सतप्त परिवारों के पास पहुंचाने का आश्वासन दिया।

विपक्ष के नेता श्री भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने भी दिवंगत आत्माओं को श्रद्धांजलि अर्पित की और अपनी पार्टी की ओर से शोक प्रस्ताव पढ़े। बाद में सदन के सदस्यों ने दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत आत्माओं की शांति के लिए प्रार्थना भी की।

सदन में गांव धौड़, जिला झज्जर निवासी स्वतंत्रता सेनानी श्री छोटू राम को श्रद्धांजलि दी गई। इसी प्रकार, मातृभूमि की रक्षा के लिए अपने प्राण न्यौछावर करने वाले जिन वीर सैनिकों को श्रद्घांजलि दी गई उनमें रेवाड़ी जिला के बच्चा गांव के सिपाही सुनील कुमार, महेंद्रगढ़ जिला के गांव चेलावास के सिपाही कपिल सिंह, झज्जर जिला के गांव चिमनी के सिपाही पवन तथा गांव देसलपुर के सिपाही नवीन जून, रेवाड़ी जिला के गांव मसीत के सिपाही जय सिंह,जींद जिला के गांव मालसरी खेड़ा के सिपाही आजाद सिंह तथा हिसार जिला के गांव मदनहेड़ी के सिपाही अनिल कुमार शामिल हैं।

इसी प्रकार, विधायकों व पूर्व विधायकों के जिन निकट संबंधियों को श्रद्घांजलि दी गई उनमें विधायक श्री असीम गोयल के ससुर श्री फकीरचंद गर्ग, विधायक श्री गोपाल कांडा की चाची श्रीमती सावित्री देवी तथा पूर्व विधायक श्री सुरजीत कुमार धीमान की पत्नी श्रीमती राम प्यारी शामिल हैं।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।