गौरक्षा समिति के सदस्यों ने पीकअप गाडी से सात गौवंश को मुक्त कराया |
February 20th, 2020 | Post by :- | 114 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट)  :- होडल गौरक्षा समिति व पलवल गौरक्षा दल के सदस्यों ने पुलिस के सहयोग से बुधवार देर रात गांव मितरौल के पास से एक पीकअप गाडी में से आधा दर्जन से ज्यादा गौवंश का मुक्त कराया है। गाडी में सवार गौतस्कर अंधेरे का फायदा उठाकर गाडी को मौके पर छोडकर फरार हो गए। पुलिस ने गौवंश से भरी गाडी को कब्जे में लेकर गौवंश को गौशाला में भेज दिया है। पुलिस ने गौरक्षा दल के सदस्य की शिकायत पर गौतस्करों के खिलाफ मामला दर्ज करके उनकी तलाश शुरू कर दी है।

होडल गौरक्षा समिति के अध्यक्ष भगत सिंह रावत ने जानकारी में बताया कि समिति व दल के सदस्यों को मुखबिर द्वारा सूचना मिली कि एक पीकअप गाडी पलवल की ओर से गौवंश लेकर मेवात की ओर जा रही है। सूचना मिलते ही गौरक्षा समिति व दल के सदस्य कैलाश, प्रवीन, डीसी, गबरू गुलाबत, अशोक, चिराग, मनोज, ललित ने गाडी की तलाश शुरू कर दी। सदस्यों ने मामले की सूचना मुंडकटी थाना पुलिस को दे दी। पुलिस भी सदस्यों के साथ गाडी की तलाश में जुट गई। समिति के सदस्यों व पुलिस को पीकअप गाडी गांव मितरौल के निकट मिली।

सदस्यों के साथ-साथ पुलिस ने गाडी का पीछा शुरू कर दिया। अपने आप को घिरता देख गाडी में सवार गौतस्कर गाडी को मौके पर ही छोडकर खेतों में फरार हो गए। दल के सदस्यों व पुलिस ने तस्करों को काफी तलाश किया, लेकिन वह अंधेरे का फायदा उठाकर भागने में सफल हो गए। पुलिस ने जब पीकअप गाडी की तलाशी ली तो उसमें से बंधक अवस्था में सात गाय बरामद की जिनमें से एक गाय मृत अवस्था में थी। पुलिस ने दल के सदस्य शेलेंद्र की शिकायत पर गौतस्कर उटावड थाना बहीन निवासी मूला उर्फ इरफान, मुवीन, कामिल व गांव घासेडा निवासी जकरिया के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस ने गाडी में से बरामद हुए गौवंश को पास की गौशाला में भेज दिया है और गाडी को जप्त कर लिया है। मामले में खबर लिखे जाने तक आरोपियों की कोई गिरफ्तारी नहीं हो सकी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।