हिन्दी लैक्चर्रार विष्णु गौड पर जानलेवा हमला
February 20th, 2020 | Post by :- | 104 Views

हसनपुर पलवल (मुकेश वशिष्ट) :-गांव करमन में (होडल ) स्थित सरकारी स्कूल के परिसर में स्कूली छात्राओं को देखकर बाइकों व गाडियों से हवाबाजी करने वाले सरारती तत्वों का विरोध करना एक हिन्दी लैक्चर्रार विष्णु गौड को उस समय मंहगा पड गया जब उन सरारती तत्वों ने स्कूल के बाहर लैक्चर्रार पर जानलेवा हमला कर उसे घायल कर दिया। विष्णु गौड को घायल करने के बाद सरारती तत्व गाडी में फरार हो गए। घायल लैक्चर्रार को होडल के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया गया। घायल के परिजनों ने मामले की सूचना पुलिस को दे दी है। खबर लिखे जाने तक पुलिस मामला दर्ज नहीं कर सकी है। घायल की हालत को गंभीर देखते हुए उसे पलवल अस्पताल के लिए रैफर कर दिया है। विष्णु गौड पर हुए जानलेवा हमले की अध्यापकों ने घोर निंदा की है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार गांव करमन के राजकीय प्राथमिक पाठशाला के मैदान में गांव के ही कुछ सरकारी तत्व युवक छात्राओं को देखकर बाइक व गाडी से हववाजी कर रहे थे। विद्यालय में तैनात हिन्दी लैक्चर्रार विष्णु गौड ने उनका विरोध करते हुए उन्हें विद्यालय परिसर से खदेड दिया। इसी विरोध के चलते जैसे ही स्कूल की छुट्टी के बाद विष्णु गौड अपनी बाइक लेकर घर के लिए स्कूल के बाहर निकले वैसे ही एक गाडी में सवार होकर तीन-चार युवक वहां पहुंच गए और उन्होंने लाठी-डंडे व हथियार से उनपर हमला कर दिया। विष्णु गौड द्वारा शोर मचाने पर आसपास के ग्रामीण घटना स्थल की ओर दौड लिए। ग्रामीणों को आता देख वह युवक विष्णु गौड को जान से मारने की धमकी देकर गाडी में सवार होकर मौके से फरार हो गए।

ग्रामीणों ने घायल विष्णु गौड को होडल के सरकारी अस्पताल में भर्ती कराया और पुलिस को मामले से अवगत कराया। विष्णु गौड पर हुए हमले की खबर जैसे ही अन्य अध्यापकों को लगी वैसे ही काफी संख्या में अध्यापक अस्पताल में पहुंच गए। अध्यापकों ने इस घटना की घोर निंदा करते हुए पुलिस से हमलावरों को तुरन्त गिरफ्तार करने की मांग की है वहीं चिकित्सकों ने घायल की हालत को गंभीर देखते हुए उसे पलवल अस्पताल में रैफर कर दिया है। इस मामले में थाना प्रभारी उमर मोहम्मद का कहना है कि उन्होंने सूचना मिलते ही पुलिस को मौके पर भेज दिया। उन्होंने कहा कि घायल की हालत में सुधार आते ही उनका बयान लेकर दोषियों के खिलाफ कार्यवाही की जाएगी।

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।