नशा तस्करी पर लगाम लगाने में प्रशासन फेल : दीपांशु बंसल ।
February 17th, 2020 | Post by :- | 101 Views

कालका (चन्द्रकान्त शर्मा) ।

जिला पंचकूला व खासकर कालका विधानसभा के इलाके में सरकार तथा पुलिस प्रशासन,नशा तस्करी और उसके बढ़ते कारोबार पर लगाम लगाने में फेल साबित हो चुका है,प्रशासन केवल कागजी कार्यवाही तक समिति रह गया है और खानापूर्ति के लिए नामात्र कार्यवाही कर नशो को रोकने मे पूर्णतः नाकाम साबित हो चुका है,उक्त आरोप कांग्रेस छात्र इकाई में राष्ट्रीय संयोजक व शिवालिक विकास मंच के उपाध्यक्ष दीपांशु बंसल ने इलाके में बढ़ रहे नशे के कारोबार और नशा तस्करी को रोकने में नाकाम प्रशासन की कार्यवाही को देखते हुए लगाए है।इलाके में चिट्टा-समैक-कोकेन-निकोटिन हुक्का जैसे नशो ने जड़े पकड़ ली है जिसकारण युवाओ को एक सुनियोजित रूप से नशो में धकेला जा रहा है।सरकार के पास नशो को रोकने के लिए किसी प्रकार का कोई भी स्थायी हल नही है। गौरतलब है कि जिले में अवैध रूप से चल रहे हुक्का बार्स को बन्द करवाने के लिए बंसल ने सरकार को लीगल नोटिस दिया हुआ है और जल्द न्यायलय में जनहित याचिका के माध्यम से परमानेंट बन्द करवाने का काम करेंगे।

— अब तक बार्डर एरियाज पर नाकाबंदी नही,सरेआम नशा आ रहा इलाके में..

दीपांशु का कहना है कि कालका विधानसभा,पंजाब हिमाचल व चंडीगढ़ से सटा हुआ बार्डर का क्षेत्र है जहां नशा कारोबारी सरेआम धड़ले से नशा बेच रहे है इसलिए उन्होंने नशा तस्करी को रोकने के लिए जिले के बॉर्डर एरियाज पर परमानेंट नाकाबंदी का सुझाव दिया था जिससे इलाके में नशे की एंट्री रुकनी थी परन्तु बंसल का कहना है कि प्रशासन नशो को रोकने के लिए गंभीर नही है,केवल कागजी कार्यवाही तक सीमित है यही कारण है कि महीनों बीतने के बावजूद अब तक बार्डर एरियाज नशा कारोबारियों के लिए खुले है जिससे सरेआम नशो को इलाके में लेकर आया जा रहा है।दीपांशु ने कहा कि आज सबसे ज्यादा जरूरत शहर में आने वाली गाड़ियों की गहनता से चेकिंग करनी जरूरी है जिससे नशा एंटर न हो सके।

— कोई बड़ा या अन्य नशा कारोबारी पुलिस के गिरफ्त में नही …

दीपांशु का एक बड़ा आरोप है कि अब तक पुलिस प्रशासन व सरकार इलाके के किसी बड़े नामी नशा कारोबारी को पकड़ नही पाई है,इसके साथ ही अन्य नशा कारोबारियों को भी पकड़ा नही गया है जोकि भाजपा-जजपा सरकार की नशो को रोकने के लिए नीति व नियत को स्पष्ट करता है।अब तक किसी भी नशा कारोबारी को गिरफ्त में न लिया जाना,नशो को रोकने के लिए सरकार की मुहिम की धरातल पर सच्चाई बयान करता है।

— डीजीपी तक से की जा चुकी मांग,फिर भी सरेआम बिकता है इलाके में नशा….

दीपांशु बंसल अनेको बार डीजीपी,डीसीपी व सम्बंधित अधिकारियों को नशा रोकथाम की मांग करते आ रहे है परन्तु फिर भी इलाके में नशा कारोबारी नशे को कही छुप कर नही बल्कि सरेआम बेच रहे है। गांवो,शहरों और गलियों में जगह जगह नशा पहुँचगया है जिसकी रोकथाम जरूरी है अन्यथा इलाके का भविष्य अंधकार में चला जाएगा।

 

— नशा लगाम लगाने की कार्यवाही नामात्र, कागजी कार्यवाही तक समिति प्रशासन ।
— न ही बार्डर एरियाज पर अभी तक नाकाबंदी, न ही कोई बड़ा या अन्य नशा कारोबारी पुलिस के गिरफ्त में ।
– चिट्टा-समैक-कोकेन-निकोटिन हुक्का आदि नशीले पदार्थ युवाओ का भविष्य कर रहे बर्बाद ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।