अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की जा रही है
February 16th, 2020 | Post by :- | 86 Views

कुशलगढ़ बांसवाड़ा अरुण जोशी
नगर में कल हुई बस दुर्घटना से वृद्ध की मौत के बाद नगर में माहौल गरमाया हुआ है जहां व्यस्ततम मार्ग थांदला रोड बांसवाड़ा मार्ग रतलाम मार्ग और नगर का नेहरू बाजार इस मार्ग पर यातायात व्यवस्था के नाम पर प्रशासन द्वारा शक्ति नहीं करने का कारण अतिक्रमण कारी अतिक्रमण ही नहीं अपितु अधिग्रहण कर सड़क को सकड़ी कर दी है। जहां दुपहिया वाहन निकलना भी मुश्किल है ऐसी स्थिति में नगर में बड़े हादसे कानोता दे रहा है स्मरण रहे कि तत्कालीन उपखंड अधिकारी जयवीर सिंह कालेर व पुलिस उप अधीक्षक ब्रजराज सिंह चारण ने एक अभियान चलाकर अस्थाई टीमेडा बस स्टैंड व बांसवाडा मार्ग पर अतिक्रमण हटा कर सड़क आवागमन के लिए चैड़ा कर दिया था। किंतु अतिक्रमणकारियों ने इन दोनों अधिकारियों के रवाना होने के बाद अपना रूपा बताते हुए अधिकरण करना चालू किया। आज स्थिति ऐसी है कि अस्थाई टिमेडा बस स्टैंड पर अतिक्रमणकारियों ने अपना अड्डा बना रखा है एक परिवार से पांच पांच थेला गाड़ियां दुकानें लगाकर आने वाले राहगीरों के लिए परेशानी खड़ी कर दी है। प्रशासन समय पर नहीं चाहता तो बहुत बड़ा हादसे का इंतजार कर रहा है दिन में 12.00 बजे बाद थांदला मार्ग को बांसवाड़ा मार्ग इतना व्यस्त रहता है कि यहां चार पहिया वाहन निकालना तो ट्रैफिक जाम हो जाता है। बाईपास बना हुआ है लेकिन उसका उपयोग शक्ति से नहीं करने से चार पहिया वाहन बस और ट्रक बांसवाड़ा मार्ग थाना मार्ग पर चलने से आवरण बाधित हो जाता है। इस अंदर में मेरे लिए ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर अवगत कराएं कि समय रहते प्रशासन ने शक्ति का उपयोग नहीं किया तो बड़ा हादसा हो सकता है हाल ही में नगरपालिका ने चैराहे सुंदरीकरण किया किंतु अतिक्रमण कारी खेला गाड़ियों ने उसी समीकरण पर अपना मजमा लगा दिया बड़ी सोच की बातें की अतिक्रमणकारियों के विरुद्ध कार्रवाई नहीं की जा रही है दूसरी ओर सीएलजी की मीटिंग में हमेशा मुद्दे उठते हैं कि अतिक्रमण हटाया जाए साधी आवागमन बाधित न हो इसके लिए पुलिस प्रशासन कहता है कि हमें आदेश दे। प्रशासन और नगर पालिका मिलकर इस अभियान को कड़ाई से कार्य करें तो पुलिस प्रशासन सहयोग कर सकता है। किंतु मीटिंग में बार-बार उठने वाली बात भी मात्र कागजों पर रह जाती है कल के इस हादसे के बाद नगर में एक ही चर्चा है कि बड़ा हादसा का इंतजार कर रहा है प्रशासन ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।