अम्बाला शहर का बस अड्डा प्रदेश का पहला ऐसा बस अड्डा है जिसका नाम पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज के नाम पर रखा गया
February 16th, 2020 | Post by :- | 138 Views

अम्बाला, ( गौरव शर्मा )   ।  हरियाणा के परिवहन मंत्री मूल चन्द शर्मा ने कहा कि अम्बाला शहर का बस अड्डा प्रदेश का पहला ऐसा बस अड्डा है जिसका नाम पूर्व विदेश मंत्री स्वर्गीय सुषमा स्वराज के नाम पर रखा गया है। अब यह बस अड्डा सुषमा स्वराज बस अड्डा के नाम से जाना जायेगा। प्रदेश में अगले 6 महीने में 1500 नई बसें शामिल की जायेंगी, जिनमें पिंक बसें व वोल्वों बसें भी शामिल हैं। परिवहन मंत्री आज अम्बाला शहर के नवनिर्मित बस अड्डे का नामकरण करने के उपरांत उपस्थित लोगों को सम्बोधित कर रहे थे। यहां पंहुचने पर पुलिस की एक टुकड़ी ने परिवहन मंत्री को सलामी दी, वहीं अतिरिक्त उपायुक्त अम्बाला जगदीप ढांडा व जीएम रोडवेज गौरी मिड्ढा ने परिवहन मंत्री व स्थानीय विधायक असीम गोयल का पुष्पगुच्छ देकर उनका स्वागत किया।

परिवहन मंत्री ने इस मौके पर लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि 18 करोड़ रुपये की लागत से इस बस स्टैंड का निर्माण कार्य किया गया है और इस बस स्टैंड के निर्माण कार्य को करवाने में अम्बाला शहर के विधायक असीम गोयल का योगदान अहम है तथा आज बहन सुषमा स्वराज के नाम से बस स्टैंड का नामकरण किया गया है जोकि गर्व की बात है। उन्होंने कहा कि इस बस स्टैंड में सभी सुविधाएं उपलब्ध हैं। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज एक राजनैतिक यूनिवर्सिटी रही हैं, उन्होंने देश को बहुत बड़े नेता, संासद दिये हैं। विपक्ष में रहते हुए भी उन्होंने देश व प्रदेश के लिये एतिहासिक कार्य किये हैं। पूरी दुनिया व देश उनके द्वारा किये गये कार्यों से भली-भांति परिचित है। उन्होंने कहा कि जिस प्रकार से आज उनके नाम से बस स्टैंड का नाम रखा गया है, उसी प्रकार बल्लभगढ़ में भी बहुत बड़े महिला कालेज का नाम भी सुषमा स्वराज के नाम से रखा जायेगा। उन्होंने कहा कि हम सबको मिलकर बहनजी के दिखाये गये रास्ते व उनकी मर्यादाओं पर चलकर देश व प्रदेश को आगे ले जाने का काम करना है।

पत्रकारों से बातचीत करते हुए उन्होंने बताया कि श्रीमती सुषमा स्वराज को पूरा प्रदेश व देश जानता है और ऐसी बहन के नाम से आज बस स्टैंड का नाम रखा गया है। उन्होंने कहा कि प्रदेश में वर्तमान समय में रोडवेज में 3600 बसें हैं, जिनमें से 3200 बसें रोड पर चल रही हैं। समय के अनुरूप प्रदेश में 4500 बसों की जरूरत है। बसें गरीब वर्ग का जहाज हैं। उन्होंने कहा कि लोगों को बेहतर से बेहतर परिवहन सुविधाएं उपलब्ध करवाने की दिशा में काम किये जा रहे हैं। अगले 6 महीने में 1500 बसें रोडवेज बेडें में शामिल की जायेंगी, जिनमें छात्राओं के लिये पिंक बसें भी शामिल रहेंगी, वहीं वोल्वो बसें भी बेडे में शामिल की जायेंगी ताकि लोगों को और बेहतर परिवहन सेवाएं हासिल हो सकें। उन्होंने यह भी कहा कि प्रदेश में किसी भी सूरत में अवैध खनन, ओवरलोडिंग बर्दाशत नही की जायेगी। अधिकारियों को इन विषयों पर नकेल कसने के लिये निर्देश दिये गये हैं तथा अधिकारी भी इस दिशा में कार्य कर रहे हैं।
विधायक असीम गोयल ने मुख्य अतिथि का यहां पंहुचने पर स्वागत किया और सुषमा स्वराज के नाम से इस बस स्टैंड का नामकरण करने पर अम्बाला की ओर से उनका आभार भी व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि सुषमा स्वराज समाज व बेटियों के लिये एक प्रेरणा रही हैं। स्वास्थ्य और शिक्षा के क्षेत्र में जो कार्य उन्होंने किये, वह आज भी प्रेरणा के स्त्रोत हैं। उन्होंने कहा कि एक प्रशिक्षण के दौरान सुषमा स्वराज ने अपनी अभिव्यक्ति में कहा था कि अपने क्षेत्र में कोई भी ऐसा काम करें, जो जाना जाये। इसी कड़ी में आज अम्बाला शहर बस स्टैंड का नामकरण सुषमा स्वराज के नाम पर किया गया है।

उन्होंने कहा कि हमें अपनी बेटियों को भी आगे बढऩे के लिये प्रोत्साहित करना चाहिए। उन्होंने एक कविता के माध्यम से कहा कि ये मीरा की अमर भक्ति है, जो कभी मर नही सकती, ये झांसी की रानी है, कभी डर नही सकती, गीता-बबीता, सानिया, ये सब बेटियां ही हैं, कौन कहता है कि बेटियां कुछ कर नही सकती, वर्तमान में लड़कियां हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही हैं। उन्होंने यह भी कहा कि सुषमा स्वराज के जन्मदिवस के अवसर पर हर वर्ष वह कन्या पूजन दिवस के रूप में मनाते हैं, जिनमें गरीब लड़कियों का विवाह करने का काम किया जाता है। वर्तमान में बेटियां उनके जीवन चरित्र से आगे बढऩे की सीख लेती रहेंगी। कार्यक्रम में जिला भाजपा अध्यक्ष जगमोहन लाल कुमार ने मंत्री सहित सभी आगुन्तक मेहमानों का स्वागत करते हुए सुषमा स्वराज के जीवन चरित्र पर प्रकाश डाला।

सुषमा स्वराज के बड़े भाई डा0 गुलशन शर्मा ने भी अपनी छोटी बहन के साथ बिताए लम्हों का याद किया और उपस्थित श्रोतावृन्द को रूबरू करवाया। कार्यक्रम के दौरान ब्राहमण सभा द्वारा मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया।

इस अवसर पर एडीसी जगदीप ढांडा, एसडीएम गौरी मिड्ढा

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।