एनजीटी की रोक के बावजूद नूह में ईंट भट्ठा चलाना पड़ा महंगा, सात संचालकों के खिलाफ केस हुआ दर्ज
February 16th, 2020 | Post by :- | 157 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  राष्ट्रीय हरित अधिकरण (एनजीटी) के आदेशों की धज्जियां उड़ाना नूंह जिले के सात ईंट भट्ठा संचालकों को भारी पड़ गया। एनसीआर में प्रतिबंध के बावजूद ईंट भट्ठा कंपनी चलाने पर नूंह के सात संचालकों पर मुकदमा दर्ज हो गया। एनजीटी के आदेशों के बावजूद नूंह सात ईंट भट्ठा कंपनी चलते पाए गए। उक्त मामले की शिकायत जिला खाद्य एवं आपूर्ति नियंत्रक कार्यालय में पहुंची तो निरीक्षण के दौरान शिकायत सही पाई गई। जिसके बाद मामला पुलिस के पास पहुंचा तो सात ईंट भट्ठा संचालकों के खिलाफ शुक्रवार को केस हो गया। फिलहाल इस मामले में किसी भी ईंट भट्ठा संचालक की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस मामले की आगामी कार्रवाई में जुटी हुई है। बता दें, कि राष्ट्रीय हरित अधिकरण नई दिल्ली ने राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र में प्रदूषण रोकने के लिए जनहित में ईंट भट्ठा चलाने के लिए अपने आदेश में निदेषित किया है कि ईंट भट्ठा चलाने की अनुमति केवल वहन क्षमता के सुनिश्चित करने के बाद ही एनसीआर में ईंट भट्ठा चलाने की इजाजत दी जा सकती है। यह वहन क्षमता केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड द्वारा सुनिश्चित की जाएगी। इस मामले में राष्ट्रीय हरित अधिकरण नई दिल्ली ने सुनवाई के लिए अग्रिम तिथि 5 मार्च 2020 निर्धारित की हुई है और तब तक ईंट भट्ठा चलाने की अनुमति नहीं है। लेकिन नूंह में इन आदेशों की सरेआम धज्जियां उड़ती हुई देखने को मिली। विभाग को उक्त मामले की मिली तो संचालकों के खिलाफ कार्रवाई हो गई और पुलिस ने सात ईंट भट्ठा संचालकों के खिलाफ केस दर्ज कर लिया। नूंह सदर थाना एसएचओ शमशुद्दीन ने कहा कि  ईंट भट्ठा संचालकों के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस मामले की आगामी कार्रवाई में जुट गई है। जल्द ही सभी आरोपियों को गिरफ्तार किया जाएगा।
जिले में 82 ईंट भट्ठा कंपनी :
नूंह जिले में करीब 82 ईंट भट्ठा कंपनी है। सूत्र बताते है कि प्रतिबंध के बावजूद नूंह जिले अधिकांश ईंट भट्ठा चल रहे हैं, लेकिन इस ओर विभाग व प्रशासन द्वारा कोई कार्रवाई नहीं की जा रही है। यहां खुलेआम एनजीटी के आदेशों की अवहेलना की जा रही है।
इन सात ईंट भट्ठा संचालकों पर केस दर्ज :
1 मैसर्ज हरपाल भट्ठा कंपनी गांव गांगोली।
2 मैसर्ज नसीब भट्ठा कंपनी गांव सालाहेड़ी।
3 मैसर्ज दंहगल भट्ठा कंपनी गांव घासेड़ा।
4 मैसर्ज आरएस भट्ठा कंपनी गांव छपेड़ा।
5 मैसर्ज भगत भट्ठा कंपनी गांव गांगोली।
6 मैसर्ज राव ब्रिक्स सैंटर गांव सूगरपुर छछैड़ा।
7 मैसर्ज हनुमान भट्ठा कंपनी गांव छछैड़ा।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।