ITI नगीना में जिला स्तरीय रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया
February 15th, 2020 | Post by :- | 85 Views

नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  जिला स्तरीय रक्तदान शिविर का आयोजन रेड क्रॉस सोसाइटी नूह द्वारा सरकारी औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान नगीना में किया गया। सिविल सर्जन नूंह डा. विरेन्द्र यादव द्वारा रक्तदान शिविर का उद्घाटन किया गया। उन्होंने कहा कि रक्तदान से बढकर कोई दान नही है क्योकि रक्त के द्वारा किसी का  जीवन बचाया जा सकता है। अत: हमें समय-समय पर रक्तदान करते रहना चाहिए। इस रक्तदान कैम्प में स्वेच्छा से काफी लोगों ने रक्तदान किया और गेटी नगीना के प्रिंसिपल धर्मबीर सिंह ने रक्तदाताओं को प्रमाण पत्र वितरित किए। रक्तदान शिविर में गेटी नगीना, फिरोजपुर झिरका और पिनगवां के छात्र और स्टाफ सदस्य ने भी रक्तदान शिविर में भाग लिया।

सिविल सर्जन डा. विरेन्द्र यादव ने रक्तदाओं का उत्सावर्धन करते हुए कहा कि रक्तदान करने से शरीर में कोई कमजोरी नही आती बल्कि हमारे शरीर में नए रक्त का संचार होने से शरीर में आने वाली बिमारियों की सभावनाएं कम होती है। उन्होंने कहा कि रक्तदान करने से हमें जहां एक ओर हार्ट अटैक जैसी बिमारियों का खतरा कम होता है, वहीं रक्त दान के माध्यम से दान की गई रक्त की दो बूंदे संकट की घडी में किसी दुर्घटना ग्रस्त व्यक्ति का जीवन बचाने का कार्य करती है। उन्होंने कहा कि रक्तदान के द्वारा एकत्रित किए गए रक्त से किसी का अमूल्य जीवन बच सकता है। इसलिए हमें चाहिए कि समय-समय पर रक्त कर दूसरों का जीवन बचाने का कार्य करें।
       जिला रैडक्रस सोसयटी के सचिव महेश गुप्ता ने कहा कि हमें यह समझने की जरुरत है कि रक्त हमारे स्वास्थ्य के लिए कितना महत्वपूर्ण है, जब व्यक्ति इस बात को समझ जाता है तो वह एक नही अनेकों बार रक्तदान करता है। उन्होंने कहा कि रक्तदान महा दान है, इससे बड़ा कोई दान नही है। उन्होंने कहा कि कोई भी स्वच्छ व्यक्ति रक्तदान कर सकता है, रक्तदान का जितना फायदा जरुरतमंद को होता है उससे कही ज्यादा लाभ रक्तदान करने वाले व्यक्ति को मिलता है। उन्होंने कहा कि अधिक से अधिक रक्तदान शिविरों का आयोजन कर रक्त की कमी को पूरा करने का कार्य किया जाएगा।
       इस मौके पर हरेन्द्र सिंह कुण्डु, नरेश डागर, राजेश शर्मा, देवेन्द्र सिंह, सहित रैडक्रास की पूरी टीम ने भी रक्तदाताओं का उत्सावर्धन किया।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।