सरकारी धान को हड़पने वाली रामा राईस मिल को ब्लैक लिस्ट कर किया सील
February 12th, 2020 | Post by :- | 88 Views

अंबाला , बराड़ा (गुरप्रीत सिंह मुल्तानी)  ।

धान की मिलिंग में हुई गड़बड़ी को लेकर जहां मंगलवार को बराड़ा की राईस मिल को सील कर कब्जा किया गया। मिल पर कब्जे की कार्यवाही को लेकर इस दौरान भारी पुलिस बल मौजूद रहा। यह कार्यवाही डयूटी मैजिस्ट्रेट नायब तहसीलदार सुखदेव सिंह की देख-रेख में हुई। इस कार्यवाही को डीसी अंबाला से अप्ररूवल मिलने के बाद अंजाम दिया गया। राईस मिल के सील होने के बाद सरकार इसकी नीलामी कर अपने पैसों की रिकवरी करेगी। लेकिन देखने योग्य बात यह रही की मीडिया कर्मी को कुछ लोग इस खबर की कोव्रेज करने को मना करते नजर आये ।कार्यवाही के दौरान विभाग के डीएफएसी अंबाला निशांत राठी, राजेश्वर मौदगिल, एफएसओ अवतार सिंह, विकास व इंस्पेक्टर परमजीत सिंह आदि की टीम मौजूद रही। उल्लेखनीय है कि रमा राईस मिल बराड़ा ने सरकार का 1572. 51 एमटी धान खुर्द-बुर्द कर सरकार को करोड़ों का घाटा पहुंचाया था। जिसके बाद खाद्य एंव आपूर्ति विभाग ने उक्त राईस मिल के खिलाफ कार्यवाही करते हुए राईस मिल के खिलाफ जनवरी 2020 में धोखाधड़ी का मामला दर्ज करवाया था। शिकायत के अनुसार मैसर्ज रामा राईस मिल बराड़ा के पांच हिस्सेदारों संजय गंभीर, मोहित गंभीर, आशाीम, मनन व रवीन्द्र गौड़ ने वर्ष 2018-2019 में खाद्य विभाग के साथ एंग्रीमेंट किया था। जिसके मनन व रविन्द्र दो गारंटर बने थे लेकिन उक्त राईस मिल ने खाद्य एवं आपूर्ति विभाग को निर्धारत मात्रा में चावल नहीं दिया। जब विभाग ने उक्त राईस मिल का दौरा किया तो स्टॉक निल पाया। जिसके बाद विभाग ने मिल पर 22 जनवरी 2020 को मामला दर्ज करवाया था।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।