सरकार द्वारा चलाई जा रही किसान हितैषी स्कीमों को क्रियान्वित करने के लिए 8 फरवरी से शुरू किया जागरूकता अभियान।
February 10th, 2020 | Post by :- | 70 Views

अम्बाला : अशोक शर्मा

भारत सरकार द्वारा एक अभियान के तहत किसानों को सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा रही हैं। बैंको द्वारा छोटे एवं सीमांत किसानों को किसान क्रैडिट कार्ड में 3 लाख रूपये तक का फसली ऋण 7 प्रतिशत की दर से मिलता है जिसे समय पर जमा करने पर 3 प्रतिशत तक ब्याज की छूट देने का प्रावधान है। इस प्रकार किसानों को क्रैडिट कार्ड पर केवल 4 प्रतिशत की दर से ही ब्याज चुकाना पड़ता है। सरकार ने किसानों के हित के लिए एक बेहतरीन योजना शुरू की है जो किसान इस सुविधा से वंचित हैं वे सहकारी ग्रामीण एवं सभी वाणिजिक बैंको में उपलब्ध सुविधा से लाभ उठा सकते हैं। इस संदर्भ में जानकारी देते हुए एलडीएम डी.के. गुप्ता व डीडी एम नाबार्ड दीपक जाखड ने बताया कि सरकार ने वर्ष 2019 से पशुपालकों एवं मत्सय पालकों के लिए पशु किसान कार्ड की सुविधा शुरू की है जिसकी उपरी सीमा भी 3 लाख रूपये तक ही रखी गई है।
एक जानकारी के तहत उन्होने बताया कि भारत सरकार द्वारा प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत सभी लाभार्थियों को विशेष अभियान के तहत किसान क्रैडिट कार्ड उपलब्ध करवाया जायेगा। यह विशेष अभियान 8 फरवरी से शुरू किया गया है जोकि 15 दिन चलेगा। इस अभियान के तहत किसान प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत सभी लाभार्थी किसान क्रैडिट कार्ड बनवाने के लिए प्रधानमंत्री किसान योजना के तहत वाली बैंक शाखा में सम्पर्क करें। जिन किसानों के पास किसान क्रैडिट कार्ड उपलब्ध है वे अपनी लिमिट को बढ़वाने के लिए बैंक शाखा से सम्पर्क कर सकते हैं तथा निष्क्रिय किसान क्रैडिट धारक अपने कार्ड को एक्टीव करवा सकते हैं।
जानकारी के क्रम में उन्होंने यह भी बताया कि किसान क्रैडिट कार्ड बनवाने के लिए इच्छुक किसान अपने जमीन संबधी दस्तावेज तथा उगाई जाने वाली फसल के ब्यौरे के साथ सम्बन्धित बैंक शाखा से सम्पर्क कर सकते हैं। मौजूदा केसीसी धारक यदि चाहे तो अपने कार्ड में पशुधन व मत्सय पालन के लिए ऋण लिमिट शामिल करवा सकते हैं। इतना ही नहीं सभी बैंक शाखाओं ने प्रधानमंत्री किसान योजना के उन लाभार्थियों की सूची बनानी है जिनके पास किसान क्रैडिट कार्ड नहीं है। यह सुची ग्राम सरपंच व बैंक सखी को प्रदान कर दी जाये तो प्रधानमंत्री किसान योजना के सभी लाभार्थियों को किसान क्रैडिट कार्ड की सुविधा उपलब्ध हो जायेगी। जो कार्ड से वंचित है वे एक पेज पर बनाये गये सरल पत्र से आवेदन कर सकते हैं। प्रधानमंत्री किसान योजना के जिन लाभार्थियों की क्रैडिट लिमिट 1.60 लाख रूपये तक है उन्हें भरा हुआ आवेदन पत्र जमा करवाने पर सीधे ही किसान क्रैडिट कार्ड जारी कर दिया जायेगा। पटवारियों द्वारा केसीसी आवेदन करने के इच्छुक किसानों को जमीन संबधी दस्तावेज तुरंत उपलब्ध करवा दिये जायें तो किसानों को और बेहतर सुविधा होगी। डीसी अशोक कुमार शर्मा ने सम्बन्धित सभी बैंक शाखाओं को निर्देश दिये कि सभी पात्र किसानों को सम्बन्धित बैंक किसान क्रैडिट कार्ड की सुविधा प्रदान करें। इस संदर्भ में जागरूकता अभियान चलाने के लिए भी सम्बन्धित बैंको को निर्देश दिये गये है। डीसी ने किसानों का आहवान किया कि वे बैंको से सस्ती दरों पर दिये जाने वाले ऋण के दृष्टिïगत किसान क्रैडिट कार्ड सुविधा का उपयोग करें। इस विषय को लेकर एक  बैठक भी आयोजित की गई जिसमें डीसी ने सम्बन्धित को जागरूकता अभियान चलाने के निर्देश दिये।

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।