–आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के तहत अब तक 4792 लाभार्थियों के निशुल्क इलाज पर खर्च हुई 7,8203965 रुपये की धनराशि–लाभार्थियों के दिए जा चुके है 95834 ई-गोल्डन कार्ड:-डीसी अशोक कुमार शर्मा।
February 7th, 2020 | Post by :- | 67 Views

अम्बाला : अशोक शर्मा

आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना  के तहत जिला में अब तक 4792 लाभार्थियों के निशुल्क इलाज पर 78203965 रुपये की धनराशि खर्च हुई हैं, जिसमें से 35175677 रुपये के बिल सरकारी अस्पतालों द्वारा और 43028288 रुपये के बिल निजी अस्पतालों द्वारा स्वीकृत किए गए थे। स्वीकृत किए गए बिलों की अधिकतर राशि सम्बन्धित अस्पतालों के खातों में आ चुकी है। इस संदर्भ में जानकारी देते हुए डीसी अशोक कुमार शर्मा ने बताया कि जिला में लाभार्थी परिवारों को 95834 ई-गोल्डन कार्ड वितरित किए जा चुके है।
जानकारी के क्रम में उपायुक्त ने आगे बताया कि जिला में योजना के तहत पंजीकृत अस्पतालों की संख्या 33 हैं जिनमें से 26 अस्पताल प्राईवेट व 7 नागरिक अस्पताल शामिल हैं। ईलाज के बाद जनरेट की गई राशि सम्बधित अस्पतालों के खातों में आ जाती हैं। सरकार की यह योजना बहुत ही महत्वकांक्षी योजना है। इस योजना के कार्यरूप में परिणत होने से जिला के हजारों परिवार लाभान्वित हो रहे हैं। इस योजना की शुरूआत देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 23 सितम्बर 2018 को की थी। यह सरकार की जन-स्वास्थ्य सम्बधी बेहतरीन योजना हैं। सभी पंजीकृत अस्पतालों को पहले ही निर्देश दिए जा चुके है कि अस्पतालों में ईलाज के लिए आने वाले लाभार्थियों के ईलाज में किसी प्रकार की लापरवाही कतई नही होनी चाहिए। इस  योजना के तहत जिला समूचे हरियाणा प्रदेश में अग्रिम पंक्ति में अपना स्थान रखता है।
इस विषय को लेकर जब आयुष्मान भारत प्रधानमंत्री जन आरोग्य योजना के जिला सुचना प्रबन्धक संदीप से बात की गई तो उन्होंने बताया कि लाभार्थी परिवारों का ईलाज सही प्रकार से हो, उनकों बेहतरीन स्वास्थ्य सेवाएं मिले, इस बात को ध्यान में रखते हुए समय-समय पर सम्बधित अस्पतालों का अचानक निरीक्षण भी किया जाता हैं। हर सप्ताह सोमवार को किए गए काम की रिपोर्ट उपायुक्त कार्यालय को भेजी जाती हैं। हमारा मुख्य उदेश्य हर उस योग्य लाभार्थी परिवार को लाभान्वित करना है जो इस स्कीम के तहत स्वस्थ्य लाभ लेना चाहता हैं। ईलाज के साथ ही बिल जनरेट करने की प्रक्रिया को सुचारू रूप से कार्यरूप में परिणत किया जा रहा हैं।

 

 

 

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।