बद्दी ! जुडिशल कस्टडी में हुई युवक की मौत, पीजीआई में था उपचाराधीन
February 4th, 2020 | Post by :- | 80 Views

औद्योगिक क्षेत्र बरोटीवाला के तहत भटोलीकलां में खैर के अवैध कटान मामले में गिरफ्तार आरोपी की पीजीआई में मौत हो गई है। जिसके चलते क्षेत्र में माहौल सवेंदनशील हो गया और भारी मात्रा में सुरक्षबलों की तैनाती की गई। आरोपी ज्यूडिशल कस्टडी में था और तबियत बिगड़ने पर 1 फरवरी से पीजीआई में उपचाराधीन था। बताया जा रहा है कि ब्रेन हेमरेज की वजह से सोमवार को उसकी मौत हुई है। पुलिस ने मामले में जांच शुरू कर दी है। जानकारी के अनुसार 10 जनवरी को वनविभाग की टीम गुप्त सूचना के आधार पर बरोटीवाला के तहत भटोलीकलां में दबिश देकर खैर के 35 मोछें बरामद किए थे। अवैध वन कटान टेंपो में खैर के मोछें लाद कर भागने की तैयारी में थे, लेकिन उससे पहले ही वन विभाग की टीम ने रेड कर दी और अवैध वन कटान टैम्पो को छोड़कर फरार हो गए। पुलिस ने इस मामले में वनखण्ड अधिकारी की शिकायत के आधार पर वन अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज करते हुए दिन चार दिन के बाद 28 जनवरी पिंजौर हरियाणा निवासी अमरीक सिंह को गिरफ्तार कर लिया। चार दिन के पुलिस रिमांड के उपरांत अमरीक को 1 फरवरी से जुडिशल कस्टडी में भेज दिया गया था। 1 फरवरी के आसपास अमरिक की तबीयत खराब हुई और उसे बद्दी सीएचसी में प्राथमिक उपचार के बाद पीजीआई चंडीगढ़ रेफर कर दिया गया था। जहा पीजीआई में अमरीक की मौत हो गई। रोहित मालपानी ने बताया कि अमरीक सिंह जुडिशल कस्टडी में था और 1 फरवरी से पीजीआई में उपचाराधीन था, जहां सोमवार को उसकी मौत हो गई ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।