आरोपी को बचाने के लिए महिला ने की थी झूठी शिकायत , सोशल मीडिया पर फैलाई झूठी अफवाह 
February 4th, 2020 | Post by :- | 84 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  । जाली नोट के मामले में नामजद आरोपी को पकड़ने गई पुलिस जाल में फंस चुके आरोपी को भगाने में अहम भूमिका निभाने और बाद में सोशल मीडिया पर झूठी – मनघडंत कहानी रचने वाली महिला एवं सोशल मीडिया पर राई को पहाड़ बनाकर पुलिस की छवि खराब करने वाले व्यक्ति से खाकी सख्ती से निपटने की तैयारी कर चुकी है। आरोपी जिस मकान में रहता था , उसके मालिक ने भी साफ कर दिया कि जिस दिन पुलिस ने उनके घर पर दबिश दी थी। उस दिन आरोपी किरायेदार घर पर ही था , जिसे उसकी महिला मित्र ने गेट नहीं खोलकर छत से फांदकर भगाने में पूरा किरदार निभाया था।
आपको बता दें कि पिनगवां पुलिस जाली नोट , मोबाइल – बैट्री चोरी इत्यादि के मामलों में नामजद व्यक्ति आरिफ निवासी नकनपुर को गत 31 जनवरी को पुलिस सूचना के आधार पर पकड़ने गई थी। आरिफ पिनगवां कस्बे के सुनील कुमार नाम के व्यक्ति के मकान में एक महिला के साथ किराये पर रहता था। पुलिस ने जब महिला और आरोपी के रिश्तों को खंगाला तो जिसे आरोपी अपनी पत्नी बताकर पिनगवां कस्बे में रह रहा था। वह उसकी पत्नी नहीं थी। उसे आरोपी कुछ गलत कामों में शामिल रखता था। दरअसल आरोपी आरिफ के घर में रेड मारने और महिला से खाकी द्वारा बदसलूकी करने की खबर यू ट्यूब पर डाल दी गई। पुलिस ने जब यह खबर यू ट्यूब पर डाली तो उसके होश उड़ गए। मनघडंत कहानी गढ़कर पुलिस की छवि खराब करने वालों के साथ – साथ जाली नोट मामले में बीते साल नामजद आरोपी को पुलिस सख्ती से निपटने की तैयारी कर ली है। पत्रकारों के सम्मुख मकान मालिक ने भी सोशल मीडिया पर चल रही खबर को गलत बताते हुए पुलिस की थ्योरी और रेड को सही बताया है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।