स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित खाद्य सामग्रियों को ,आश्रम-छात्रावास हेतु खरीदना सुनिश्चित करें-कलेक्टर जिला प्रशासन की पहल महिला समूह को रोजगार दिलाने की मंशा
February 1st, 2020 | Post by :- | 130 Views

छत्तीसगढ़(कांकेर) टोकेश्वर साहू/ कलेक्टर श्री के.एल.चौहान ने जिला कार्यालय के सभाकक्ष में आज बैठक लेकर जिले में संचालित आश्रम-छात्रावासों के बच्चों के लिए महिला स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित खाद्य सामग्रियों को खरीदने के लिए आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
उन्होंने बैठक में उपस्थित अधीक्षकों से कहा कि जिले में संचालित 188 आश्रम-छात्रावासों में महिला स्व-सहायता समूह द्वारा निर्मित गुणवत्तायुक्त खाद्य सामग्रियों को अनिवार्य रूप से खरीदना सुनिश्चित करें।
इस व्यवस्था से महिला स्व-सहायता समूहों को भी आमदनी होगी एवं आश्रम-छात्रावासों को गुणवत्तायुक्त सामग्री प्राप्त होगा।
कलेक्टर श्री चौहान ने महिला समूह से चर्चा करते हुए कहा कि सस्ते दर पर बाजार से कच्चे मटेरियल खरीदकर गुणवत्तायुक्त सामग्री तैयार कर आश्रम-छात्रावासों में बच्चों के जरूरतों के अनुसार उपलब्ध करायें।
उन्होंने चर्चा करते हुए कहा कि समूहों द्वारा आचार, पापड़, बड़ी, दाल, आटा, तेल, हल्दी, मसाला, मशरूम, हरी-साग-सब्जी, वांशिग पाउडर, साबुन इत्यादि सामग्री तैयार किया जाता है जिसे आश्रम-छात्रावासों में उपलब्ध कराया जावे। उन्होंने उपस्थित आश्रम-छात्रावास के अधीक्षकों से जिले के स्व-सहायता समहों द्वारा निर्मित खाद्य सामग्री को खरीदने निर्देशित किया।
कलेक्टर श्री चौहान ने स्व-सहायता समूह के महिलाओं को गौठान के आसपास के जमीन में साग-सब्जी के साथ-साथ मक्का उत्पादन, फेंसिंग पोल, ईंट निर्माण आदि कार्य करने के लिए प्रेरित किया।
बैठक में आदिवासी विकास विभाग के उपायुक्त विवेक दलेला, जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास सी.एस. मिश्रा, आकांक्षी जिला फेलो अंकित पिंगले और सुश्री नेहा सिंह सहित आश्रम-छात्रावासों के अधीक्षक व महिला स्व-सहायता समूहों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।