बेटा-बेटी आस्ट्रेलिया में, सुनारिया कलां में मां की हत्या
January 31st, 2020 | Post by :- | 106 Views

रोहतक : ( विकास ओहल्याण )   ।  सुनारिया कलां गांव में तीन दिन से लापता अधेड़ महिला का शव उसके ही मकान में बैड पर कंबल से ढका हुआ मिला। शक के आधार पर पुलिस ने मकान का ताला तोड़ा, जहां पर शव बरामद हुआ। आशंका जताई जा रही है कि लूटपाट के बाद महिला की हत्या की गई है। महिला का बेटा और बेटी आस्ट्रेलिया में रहते हैं। उनके आने के बाद शुक्रवार को शव का पोस्टमार्टम कराया जाएगा। फिलहाल पुलिस अपने स्तर पर हत्याकांड की जांच में जुटी है।

आपको बतादे कि सुनारिया कलां गांव निवासी 55 वर्षीय प्रकाश देवी के पति रणबीर सिंह की काफी समय पहले मौत हो चुकी है। उसका बेटा रोहित बुधवार और बेटी सुशीला आस्ट्रेलिया में रहकर नौकरी करते हैं। गांव में प्रकाश देवी अकेली ही रहती थी। 27 जनवरी को रोहित की अपनी मां से फोन पर आखिरी बार बात हुई थी। इसके बाद से मोबाइल बंद आ रहा था। रोहित ने आस्ट्रेलिया से अपने पड़ोसी बलराज को फोन किया और मां के बारे में पूछा, लेकिन कोई पता नहीं चला। बुधवार शाम रोहित ने फोन पर बलराज को गुमशुदगी की शिकायत लिखवाई, जिसके बाद बलराज ने शिवाजी कालोनी थाने में पहुंचकर गुमशुदगी का मामला दर्ज कराया। पुलिस ने तभी से तलाश शुरू कर दी थी। बृहस्पतिवार दोपहर के समय पुलिस घर पर पहुंची। पुलिस ने वहां पर ताला लगा देखा।

आसपास के लोगों से पूछने के बाद ग्रामीणों की मौजूदगी में मकान के मेन गेट का ताला तोड़ा गया। इसके बाद अंदर जाकर कमरे की कुंडी खोली गई। वहां पर देखा तो प्रकाश देवी का शव बैड पर कंबल से ढका हुआ था। शव को देखकर लग रहा था कि कई दिन पहले ही हत्या हो चुकी है। आशंका है कि गला या फिर तकिया से मुंह दबाकर हत्या की गई है। मृतका के गले के पास से खून भी निकला हुआ था। एसपी राहुल शर्मा और एफएसएल इंचार्ज डा. सरोज मलिक दहिया ने भी मौके पर पहुंचकर जांच पड़ताल की। महिला की गुमशुदगी दर्ज थी, जिसका शव कमरे के अंदर पड़ा मिला है। शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया। शुक्रवार को महिला के परिजन आस्ट्रेलिया से आएंगे, तभी पोस्टमार्टम कराया जाएगा। तब तक पुलिस अपने स्तर से मामले की जांच में जुटी है।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।