शातिर तरीके से पहले बैंक में जमा करवाए पांच-पांच सौ के नकली नोट, फिर ऐसे खुला राज, पकड़ाया बड़ा गिरोह
January 31st, 2020 | Post by :- | 91 Views

छत्तीसगढ़़ (बिलासपुर,  ( अरुण पाण्डेय् )    ।   सुकमा में नकली नोट खपाने वाले गैंग का पर्दाफाश हुआ है। सुकमा जिले में पांच-पांच सौ के जाली नोट खपाने वाले गिरोह के दो लोगों को सुकमा पुलिस ने धर दबोचा है। बताया जा रहा है कि, आरोपियों को कड़ाई से पूछताछ करने के बाद दो आरोपियो नें नकली नोट के कारोबार से जुड़ी जानकारी दी।

जाली नोटों को बैंक में करवाया जमा

मिली जानकारी के मुताबिक, एसपी शलभ सिन्हा ने बताया कि, भारतीय स्टेट बैंक शाखा कोंटा में 23 जनवरी को में 500-500 रूपए के 01 लाख 50 हजार के नकली नोट आरोपियों द्वारा बड़ी शातिर तरीके से जमा करवाए गए फिर अगले दिन बैंक के द्वारा कुछ लोगो को पेमेंट किया गया जिसके बाद कुछ लोगो ने बैंक से पैसे प्राप्त करने के कुछदेर बाद बैंक में वापस आकर बैंक से प्राप्त नोटो को नकली होना बताया।

खाता धारक ने दी नोट नकली होने की जानकारी

फिर बैंक मैनेजर सुलभ गढ़वाल ने थाना कोंटा को एक लिखित शिकायत नकली नोटो के बारे में दी। जिसके बाद कोंटा पुलिस ने प्रारम्भिक जांच शुरू की। बैंक में लगे सीसीटीवी फुटेज के आधार पर संदेहियों को चिन्हाकिंत कर नकली नोट जमा करनेवाले आरोपियों की तलाश शुरू की गई मुखबिरी व सीसीटीवी फुटेज के आधार पर आरोपी सुरोजीत मंडल को पकडऩे में सफलता मिली। सुरोजीत मंडल के निशानदेही पर एक अन्य आरोपी सुकचंद मंडल को भी पकड़ा गया। दोनो आरोपियों से 13 हजार रूपए एवं 07 हजार के 500-500 के कुल चालीस नोट बरामद हुए।

नकली नोट के रैकेट का जल्द होगा पर्दाफाश

आरोपियों से पूछताछ में पता चला है कि यह नोट मार्केट में चलाने के एवज में उन्हे पच्चीस परसेंट कमीशन मिलता था। आरोपी द्वारा प्राप्त जानकारी के आधार पर अन्य आरोपियों के पता तलाश हेतु टीम गठित की गई है। जल्द ही प्रकरण के अन्य आरोपियों को गिरफ्तार करने एवं जाली नोटो के पूरे रैकेट को पकडऩे की कार्यवाही की जायेगी।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।