जिला मुख्यालय कांकेर में अंग्रेजी माध्यम का स्कूल खोला जाएगा, प्रस्ताव भेजने के निर्देश स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डाॅ. आलोक शुक्ला ने ली बैठक
January 30th, 2020 | Post by :- | 100 Views

छत्तीसगढ़(कांकेर)टोकेश्वर साहू। स्कूल शिक्षा विभाग के प्रमुख सचिव डाॅ. आलोक शुक्ला ने आज जिला शिक्षा एवं प्रशिक्षण केन्द्र (डाईट) कांकेर में शिक्षा विभाग के अधिकारियों की बैठक लेकर स्थानीय स्तर पर शिक्षा में नवाचार की जानकारी लेते हुए जिला मुख्यालय कांकेर में अंग्रेजी माध्यम का स्कूल खोलने हेतु प्रस्ताव शासन को भेजने के लिए निर्देशित किया।

उन्होंने कहा कि इस विद्यालय को माॅडल स्कूल के रूप में विकसित किया जायेगा, जिसकेे लिए शिक्षकों की व्यवस्था शासकीय स्कूलो से की जायेगी, जो अंग्रेजी माध्यम में पढ़ाना जानते हों। शिक्षक उपलब्ध नहीं होने पर संविदा भर्ती के आधार पर शिक्षकों की व्यवस्था किया जायेगा। इस विद्यालय में निःशुल्क शिक्षा दी जाएगी तथा प्रवेश परीक्षा के माध्यम से स्कूल में दाखिला दिया जाएगा।

जिले के सुदूर आदिवासी अंचलों में जहाॅ गोंडी, हल्बी बोली जाती है, ऐसे क्षेत्र के विद्यालयों को चिन्हांकित करने के लिए उनके द्वारा निर्देशित किया गया, चिन्हांकित विद्यालयों के बच्चों को स्थानीय भाषा मेे शिक्षा दी जायेगी तथा आगामी समय में ऐसे विद्यालयों में द्विभाषी पुस्तक हिन्दी तथा गोंडी, हल्बी में उपलब्ध कराई जायेगी, जिससे विद्यार्थियों को समझने में आसानी होगी। प्रमुख सचिव डाॅ. शुक्ला ने बैठक मेें शिक्षा विभाग के अधिकारियों को निर्देशित करते हुए कहा कि प्राथमिक विद्यालयों में अप्रैल माह में बच्चों को केवल पढ़ाना सिखायें प्रत्येक बच्चा को पढ़ने के साथ समझ में भी आना चाहिए। उन्होंने कहा कि अप्रैल माह के अंतिम सप्ताह में संकुल स्तर पर प्रतियोगिता आयोजित की जायेगी, जिसके निर्णायक मण्डल में केवल मातायें होंगी तथा विद्यार्थी पास अथवा फेल नहीं होगा बल्कि विद्यालय फेल या पास होगा। संकुल स्तर पर चयनित स्कूलों को विकासखण्ड स्तर की प्रतियोगिता में शामिल किया जायेगा तथा विकासखण्ड स्तर से चयनित स्कूलों को जिला स्तर और जिला स्तर पर चयनित स्कूल को राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल किया जायेगा।

बैठक में डाॅ. शुक्ला ने बताया कि प्रत्येक सोमवार को विद्यालयों में संविधान पढ़ाया जायेगा तथा संविधान से संबंधित पांच-पांच प्रश्न प्राथमिक एवं माध्यमिक विद्यालय के विद्यार्थियों से पूछे जायेंगे। उन्होंने बताया कि विद्यालयों में छत्तीसगढ़ के महान विभूतियों की जानकारी भी दी जायेगी। बैठक में कलेक्टर श्री के.एल. चौहान, जिला शिक्षा अधिकारी अर्जुन लाल मेश्राम, डाईट के प्राचार्य एस.के सूर्यवंशी, राजीव गांधी शिक्षा मिशन के जिला समन्वयक आनंद गुप्ता एवं आर.पी मिरे, विकास खण्ड शिक्षा अधिकारी, विभिन्न विद्यालयों के प्राचार्य एव व्याख्याता, संकुल समन्वयक एवं शिक्षकगण उपस्थित थे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।