जमीन मुआवजे की वृद्धि को लेकर आर-पार की लड़ाई लड़ने को किसान तैयार
January 27th, 2020 | Post by :- | 154 Views

सिवानी मंडी (सतीश खतरी)चरखी दादरी. ग्रीन कॉरिडोर 152डी की अधिगृहीत जमीन का मुआवजा वृद्धि की मांग को लेकर धरनारत किसान (Farmer) अब आर-पार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं. किसानों ने गणतंत्र दिवस पर सरकार से मुआवजा वृद्धि के नाम पर आजादी मांगी. किसानों ने विधायक व मंत्रियों पर उनकी आवाज नहीं उठाने का आरोप लगाते हुए अल्टीमेटम दिया है कि उनकी मांगों को पूरा नहीं किया गया तो अब किसान बड़ा आंदोलन करने पर मजबूर होंगे. बता दें कि चरखी दादरी जिले के 17 गांवों के किसान पिछले 11 महीने से गांव रामनगर में अनिश्चितकालीन धरने पर बैठे हुए हैं. किसानों की मांग है कि ग्रीन कॉरिडोर की अधिगृहित जमीन का नये सिरे से रिवाइज्ड रेट करते हुए प्रति एकड़ एक करोड़ रुपए की राशि दी जाए. हालांकि सरकार व प्रशासन द्वारा जमीन के रेट रिवाइज्ड भी किए गए थे. बावजूद इसके किसान सहमत नहीं हैं.किसानों ने गांव रामनगर में गणतंत्र दिवस पर महिलाओं के साथ एकजुटता दिखाते हुए रोष प्रदर्शन किया. प्रदर्शन की अगुवाई किसान नेता रमेश दलाल व धरना कमेटी अध्यक्ष विनोद मोड़ी ने संयुक्त रूप से की. इस दौरान किसान नेताओं ने सरकार को पर आरोप लगाया कि उनकी मांगें पूरी तरह वाजिब होने के बावजूद किसानों की मांगों को मंत्री और विधायक उच्च स्तर तक नहीं पहुंचा रहे हैं. ऐसे में किसान अब आर-पार की लड़ाई लड़ते हुए बड़ा आंदोलन करेंगे.

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।