कलमकारों ने तिरंगा झंडा फहराकर ,भारतीय संविधान को निष्पक्ष पत्रकारिता से अक्षुण्ण बनाये रखने का लिया संकल्प ।
January 27th, 2020 | Post by :- | 95 Views

*कलमकारो ने तिरंगा झंडा फहराकर, भारतीय संविधान को निष्पक्ष पत्रकारिता से अक्षुण्ण बनाये रखने का लिया संकल्प।*

गोरखपुर, उत्तर प्रदेश कुलजीत सिंह कलमकारों ने तिरंगा झंडा फहराकर

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन (रजि.) के तत्वावधान में गणतंत्र दिवस बड़ी ही धूमधाम से मनाया गया। झंडारोहण कार्यक्रम राष्ट्रीय प्रशासनिक कार्यालय- गाज़ी रौजा तिराहा, डॉ. अज़ीज़ अहमद रोड पर आयोजित किया गया। राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने झंडारोहण कर कृतज्ञता राष्ट्र के ज्ञात – अज्ञात अमर बलिदानी शहीदों को श्रद्धांजलि सुमन अर्पित किया और तिरंगा गुब्बारा को छोड़कर कौमी एकजेहती का संदेश दिया। उपस्थित सभी कलमकारों ने राष्ट्र गान एव राष्ट्र गीत के उपरांत तिरंगे झंडे को सलामी दी और भारतीय संविधान को निष्पक्ष पत्रकारिता से अक्षुण्ण बनाये रखने की प्रतिज्ञा ली।

झंडारोहण में उपस्थित कलमकारो को संबोधित करते हुए राष्ट्रीय अध्यक्ष सेराज अहमद कुरैशी ने कहा कि भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान हैं। जनता ने संविधान के माध्यम से अपने नागरिक अधिकारों को अपने द्वारा अपने ऊपर लागू किया। यह सिर्फ संविधान नहीं है, बल्कि एक नागरिक संहिता है। यह आर्थिक, सामाजिक, राजनीतिक, न्याय, समानता, सदभाव, भाईचारा, गौरवमयी व बहुरंगी संस्कृति की गारंटी और समाज के सभी वर्गों को सम्मानजनक जीवन जीने का अधिकार देता है। संविधान द्वारा न सिर्फ़ अधिकार किये गये हैं बल्कि हम अपने मौलिक कर्तव्य भी तय किये गये हैं।

इस अवसर पर मुख्य रूप राष्ट्रीय संगठन सचिव अखिलेश्वर धर द्विवेदी, प्रदेश कोषाध्यक्ष पूर्वांचल नवेद आलम, प्रदेश सचिव पूर्वांचल अवनीश त्रिपाठी, मंडल महासचिव गोरखपुर डा. अतीक अहमद, रामकृष्ण शरण मणि त्रिपाठी,जिला अध्यक्ष गोरखपुर सुरेंद्र कुमार सिंह, जिला उपाध्यक्ष रफ़ी अहमद अंसारी, जिला महासचिव डॉ. शकील अहमद, जिला काउंसिल सदस्य गोरखपुर मो. आजम, अवधेश कुमार श्रीवास्तव, मुख्तार अहमद, जुबेर आलम, श्रवण कुमार गुप्ता, सतीश मणि त्रिपाठी, डॉ. वेद प्रकाश निषाद, मो.अहमद खान, सुनील कुमार भारती, जाकिर अली,अंशुल वर्मा, मुद्स्सिर हुसैन,मेराज अहमद, सतीश चंद्र, परवेज अख्तर, सूरज कुमार आदि कलमकार उपस्थित रहे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।