राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कुरुक्षेत्र मे अभिभावक-शिक्षक मिलन कायर्क्रम का आयोजन किया गया
January 25th, 2020 | Post by :- | 132 Views

कुरुक्षेत्र, ( सुरेश पाल सिंहमार )    ।    राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कुरुक्षेत्र मे अभिभावक-शिक्षक मिलन कायर्क्रम का आयोजन किया गया जिसका शुभारंभ जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री ने किया।

प्राचार्या संतोष शर्मा ने जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री का विद्यालय प्रांगण में पहुंचने पर स्वागत किया। कुरुक्षेत्र जिले से एनटीएससी की कोचिंग के लिए चयनित सरकारी स्कूलों के 52 विद्यार्थियों के अभिभावकों की भागीदारी सुनिश्चित करने तथा उनको जागरूक करने के लिए इस मिलन समारोह का आयोजन किया गया। जिला शिक्षा अधिकारी अरुण आश्री ने विद्यार्थियों के अभिभावकों को संबोधित करते हुए कहा कि कुरुक्षेत्र जिले से ज्यादा से ज्यादा विद्यार्थियों का चयन एनटीएससी में हो इसलिए राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय कुरुक्षेत्र में आज से आगामी प्रत्येक शनिवार को एनटीएससी की कोचिंग दी जा रही है। अरुण आश्री ने कहा कि हमने सभी विषयों की कोचिंग के लिए उत्कृष्ट शिक्षकों को इसके लिए नियुक्त किया है। उन्होंने  सभी अभिभावकों से आह्वान किया कि  वे  प्रत्येक शनिवार को अपने बच्चों को  एनटीएससी कोचिंग के लिए अवश्य भेजें  तथा यह सुनिश्चित करें कि विद्यार्थी घर जाकर भी पूर्ण लगन व मेहनत से  पढ़ाई करें ताकि इस परीक्षा  में उनका चयन हो सके। श्री अरुण आश्री ने बताया कि इस परीक्षा में चयन के पश्चात् विद्यार्थियों को आगे की पढ़ाई के लिए छात्रवृत्ति प्रदान की जाती है ताकि किसी भी उत्कृष्ट विद्यार्थी की पढ़ाई पैसे के अभाव में बाधित ना हो।

उन्होंने विद्यालय की प्राचार्य संतोष शर्मा व सभी शिक्षकों से आह्वान किया कि वे पूर्ण तन्मयता से विद्यार्थियो का मार्गदर्शन करते रहें ताकि अधिक से अधिक विद्यार्थियों का चयन एनटीएससी में हो।

इस अवसर पर विद्यालय की प्राचार्य संतोष शर्मा, जिला विज्ञान विशेषज्ञ सुरेंद्र सिंह, जिला गणित विशेषज्ञ शिवचरण गुप्ता, गौतम दत्त, प्राध्यापक एवं एन.सी.सी. अधिकारी श्री राजेन्द्र कुमार, अनिल कुमार इत्यादि शिक्षक गण व विद्यार्थी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।