24 में से 6 कॉलोनियां ही हई नियमित,  लोगों को नहीं मिल पा रहीं मूलभूत सुविधाएं , सता रहा है प्रशासन का डर।
January 25th, 2020 | Post by :- | 67 Views

पिंजौर (चन्दरकान्त शर्मा) ।
नगर निगम जोन पिंजौर में जिला नगर योजनाकार विभाग की ओर से लगाए गए चेतावनी बोर्ड के माध्यम से शहर की जनता में हड़कंप मचा हुआ है। लोगों का आरोप है कि सरकारी अधिकारियों और भूमाफियाओं की जुगलबंदी के चलते आम जनता को परेशानी का सामना करना पड़ रहा है । यह आरोप लगाते हरियाणा किसान कांग्रेस के वरिष्ठ अध्यक्ष एवं पूर्व चेयरमैन विजय बंसल ने बताया कि सरकार ने मैनेजमेंट ऑफ सिविक अमेंटीस व इंफ्रास्ट्रक्चर म्युनिसिपल एरियाज ( विशेष प्रावधान ) एक्ट 2016 के तहत कॉलोनियों को नियमित करने का फैसला लिया गया था ताकि कॉलोनीवासियों को सभी मूलभूत सुविधाएं उपलब्ध करवाई जा सकें । परंतु हलका कालका में कमजोर राजनैतिक नेतृत्व और नगर निगम पंचकूला के भेदभावपूर्ण रवैये के चलते क्षेत्र की 24 में से मात्र 6 कॉलोनियों ही नियमित हो पाई । उन्होंने बताया कि पिंजौर – कालका में करीब 50 से ज्यादा कॉलोनियां अनियमित हैं और लोग मूलभूत सुविधाओं से वंचित है । लोगों का कहना है कि यदि सरकार की ओर से सभी कॉलोनियों को नियमित नहीं किया गया तो बड़ा आंदोलन किया जाएगा ।

सीएम से मांग : कॉलोनियों को नियमित करें

बंसल ने आरोप लगाया कि नगर निगम पंचकूला की नियमित हुई 6 कॉलोनियों में से कुछ कॉलोनियां उन प्रभावशाली लोगो की हैं जहां आबादी न के बराबर है बावजूद वे कॉलोनियां नियमित कर दी गईं जबकि वे कॉलोनियां अनियमित ही रह गई जहां आबादी भी अधिक थी और पहले की बसी हई थीं । विजय बंसल ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल से मांग की कि है शीघ्र प्रभाव से नगर निगम पंचकूला की सभी कॉलोनियों को नियमित किया जाए क्योंकि यह शिवालिक क्षेत्र है व तमाम नियमों में भी छूट है । शहरी स्थानीय निकाय के निदेशालय द्वारा आयुक्त नगर निगम विगत साल 2017 भेजे गए पत्र के अनुसार प्रस्तावित 24 कॉलोनियों में से केवल 6 कॉलोनियां जिसमें राधा कृष्ण कॉलोनी , लोहगढ़ गांव , मानकपुर नानक चंद , कृष्णा एनक्लेव , ईशर नगर , इस्लाम नगर -1 ही सिविक अमेंटीस व इंफ्रास्ट्रक्चर म्युनिसिपल एरियाज के तहत सक्षम पाई गई हैं जबकि जो 18 प्रमुख कॉलोनियां सुखोंमाजरी , सुभाष नगर , सूरजपुर , टिपरा कॉलोनी – ए , बी , सी , सीयूडी कॉलोनी , मानकपुर ठाकुर दास , मानकपुर देवीलाल गांव , खेड़ा गांव , गूवाला गांव , खड़ा पत्थर वासुदेवपुरा , ग्रीन वेली कॉलोनी पार्ट सी , बीटना गांव , भोगपुर गांव , बसोला गांव , धमाला गांव व आंचल विहार को अनियमित ही रखा गया । विजय बंसल ने बताया कि कॉलोनियों के अनियमित होने में जनता का कोई दोष नहीं बल्कि प्रशासन व निगम की त्रुटियां व लापरवाही है ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।