मंत्री अनिल विज ने सुभाष पार्क अम्बाला छावनी में 26 लाख रूपये की लागत से तैयार की गई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण किया।
January 24th, 2020 | Post by :- | 87 Views

अम्बाला: अशोक शर्मा

गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने आज सुभाष पार्क अम्बाला छावनी में 26 लाख रूपये की लागत से तैयार की गई नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा का अनावरण किया वहीं देश की आजादी के लिए किए गये उनके अदम्य साहस के लिए सैल्यूट देकर उन्हें नमन भी किया। यह प्रतिमा 12 फुट उंची है तथा इसे पदम भूषण से सम्मानित राम वी. सुतार शिल्पकार ने तैयार करने का काम किया है। यहां पहुंचने पर कार्यकर्ताओं ने मुख्य अतिथि का भव्य अभिनंदन कर इस प्रतिमा का अनावरण करने पर छावनी वासियों के लिए इसे एक विशेष सौगात बताया।
गृहमंत्री अनिल विज इस मौके पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के अवसर पर इस प्रतिमा का अनावरण करने की बधाई देते हुए कहा कि क्रांतिवीर नेताजी सुभाष चंद्र बोस ने अंग्रेजो की वो हकुमत जिसका कभी सुरज नहीं डूबता था उसके खिलाफ हिंदुस्तान को आजाद करवाने के लिए आजाद हिंद फौज बनाने का काम करते हुए सशस्त्र युद्ध का एलान किया तथा देश को गुलामी की जंजीरो से आजाद करवाने में अपनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। हिंदुस्तान की धरती पर भू-खंड को आजाद करवाने का काम करते हुए 30 दिसम्बर 1943 को अंडेमान निकोबार में पहली बार हिंदुस्तान का झंडा लहराने का काम किया। उन्होंने अपनी सरकार बनाई तथा जापान, जर्मनी सहित 13 राष्ट्रों से इसे मान्यता मिली। इसके अलावा उन्होंने अपना बैंक, पोस्टल स्टम्प आदि बनाने का काम किया। उन्होंने कहा कि देश की आजादी के लिए नेताजी ने जो कुर्बानी दी और जिस सम्मान के वह हकदार थे वह उन्हें नहीं मिला, काग्रेंस पार्टी ने नेताजी के साथ पूरा इंसाफ नहीं किया। देश को गुलामी की जंजीरो से आजाद करवाने में नेताजी सुभाष चंद्र बोस द्वारा किया गया योगदान सराहनीय है। इतना ही नहीं नेताजी सुभाष चंद्र बोस की मृत्यु भी आज तक रहस्य बनी हुई है, पूर्व की सरकारों ने उनकी ठीक प्रकार से जांच नहीं करवाई। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की कुर्बानियों को कभी भुलाया नहीं जा सकता। उन्होंने कहा कि नेताजी का नारा जयहिंद का नारा पूरे भारत का नारा बन चुका है तथा उन्होंने एक बात ओर कही थी कि तुम मुझे खून दो मैं तुम्हे आजादी दूंगा। ये दोनों बाते देश के लिए अमूल्य धरोहर हैं। उन्होंने कहा कि नेताजी सुभाष चंद्र बोस जैसा बड़ा क्रांतिकारी देश में नहीं हुआ है। नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम से युवाओं में देश के प्रति राष्ट्र प्रेम की भावना जागृत होती है।
गृहमंत्री ने इस मौके पर यह भी बताया कि इस मूर्ति को जिस शिल्पकार ने बनाया है वह पदम भूषण पुरस्कार से सम्मानित है तथा उसने ही विश्व की सबसे बड़ी मूर्ति सरदार वल्लभ भाई पटेल की बनाने का काम किया है। उन्होंने कहा कि सुभाष पार्क हजारों लोगों के ह्दय वाला पार्क है तथा यहां पर आने वाले लोग इस प्रतिमा को देखने से ही मात्र उनका सारा शरीर प्रफूल्लित होगा तथा उनमें देशप्रेम की भावना जागृत होगी। उन्होंने कहा कि 18 करोड़ रूपये की लागत से इस पार्क का सौन्दर्यकरण किया जा रहा है जिसके तहत यहां पर नौका विहार (बोटिंग), चिल्ड्रन कोर्नर, फुड कोर्नर, रंगीन फव्वारा, ओपन ऐयर थियेटर, बच्चों के लिए झुले, स्केटिंग रिंग इत्यादि की सुविधा होगी तथा यहां पर आकर इन सुविधाओं का लाभ लेकर लोग अपने आप को आनंदित महसूस करेंगे। उन्होने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से अब अम्बाला में बहुत कुछ कार्य हो रहे हैं और इन कार्यों के पूरा होने के बाद अम्बाला छावनी की सुंदरता बढेगी। सुंदरता की दृष्टि से अनेको कार्य तीव्र गति से हो रहे हैं।
इस मौके पर एसडीएम सुभाष चंद्र सिहाग, ईओ विनोद नेहरा, अजय बवेजा, रवि चौधरी, राजीव डिम्पल, मीडिया कोर्डिनेटर विजेन्द्र चौहान, सतपाल ढल, बी.एस. बिन्द्रा, जसबीर जस्सी, कमल किशोर जैन, रवि सहगल, दीपक भसीन, सन्नी आनंद, ललिता प्रसाद, बलकेस वत्स, मदन लाल शर्मा, मोहन लाल बग्गन, बीनू गर्ग सहित भाजपा पार्टी के अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।