गठबंधन सरकार खस्ताहाल सडक़ों पर नही दे रही ध्यान, लोग हो रहे हादसों का शिकार : प्रदीप चौधरी
January 22nd, 2020 | Post by :- | 120 Views

 

कालका, (हरपाल सिंह) : सडक़ों की बदहाली पर मौजूदा गठबंधन सरकार का कोई ध्यान नही है, जनता जर्जर सडक़ों पर जान जोखिम में डालकर सफर करने को मजबूर है। उक्त शब्द कालका विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस विधायक प्रदीप चौधरी ने कहें। उन्होंने कहा कि मौली से प्यारेवाला तक मुख्य हाइवे की हालत लंबे समय से बदहाल पड़ी है और रामपुर से काजमपुर सडक़ खस्ताहाल है और रायपुररानी से टोका सडक़ का निर्माणकार्य बड़ी ही ढीली गति से चल रहा है। इसके साथ ही मोरनी रोड़ से लेकर बड़ीशेर और धामण से होते हुए नंदपुर रोड़ और वहां से मल्ला मोड़ पिंजौर तक सडक़ की हालत बहुत ज्यादा खराब है और जिसका निर्माण लंबे समय से नही किया गया और वहीं पिंजौर गार्डन से लेकर काली माता मंदिर तक और पिंजौर से नालागढ़ रोड़ बदहाल पड़ा है, जिस पर सडक़ की कम चौड़ाई के कारण कई बड़े हादसे हो चुके है और वहीं सुखोमाजरी बायपास का काम कछुआ चाल से चलने के कारण पिंजौर जाम से जुझ रहा है। प्रदीप चौधरी ने बताया कि कालका विधानसभा क्षेत्र में लंबे समय से सडक़ों की हालत बहुत ही दयनीय बनी हुई है और जिन पर पहले बीजेपी और मौजूदा गठबंधन सरकार ने कोई ध्यान नही दिया। लोगों को रोजाना अपने गंतव्य तक पहुंचने के लिए बड़ी परेशानियां झेलनी पड़ती है। उन्होंने कहा कि जल्द से जल्द इन सडक़ों का निर्माण किया जाए, ताकि लोगों को आने-जाने में दिक्कतें न झेलनी पड़ी। इसके साथ ही चौधरी ने कहा कि गांवों को गांवों से जोडऩे के लिए भी छोटी-छोटी सडक़ों का निर्माण करना बेहद जरूरी है। इससे लोगों को नैशनल हाइवे पर आवाजाही से बचना आसान हो जाएगा और यदि गांवों के नही बने हुए इन रास्तों को पक्का कर दिया जाए तो गांवों में आने-जाने के लिए रास्ता बहुत ही शार्ट पड़ेगा।
*ग्रामीण क्षेत्र की सडक़ों पर भी हो स्ट्रीट लाईटों की व्यवस्था-*
कालका विधायक प्रदीप चौधरी ने कहा कि जिस प्रकार से शहरों में स्ट्रीट लाईटें लगी हुई है। उसी प्रकार से गांवों की जो सडक़ें और लिंक रोड़ और मुख्य हाइवें है। उनके ऊपर भी स्ट्रीट लाईटें लगनी बेहद जरूरी है। चूकि अंधेरे के कारण अक्सर सडक़ों पर हादसें होते है और आवारा पशु पुरा दिन सडक़ों पर घूमते रहते है और जिसके चलते खासकर दो पहिया वाहन चालकों को नजर नही आते और हादसों का शिकार हो जाते है। इसलिए सरकार सडक़ों के निर्माण के साथ-साथ सडक़ों पर स्ट्रीट लाईटों की व्यवस्था भी करें और इसके लिए यदि संभव हो सके तो सोलर प्रोजैक्ट का भी प्रावधान होना चाहिए।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।