उपमंडल स्तरीय गणतंत्र दिवस की तैयारियां अंतिम चरण में
January 22nd, 2020 | Post by :- | 162 Views

बराड़ा, 22 जनवरी (जयबीर राणा)
उपमंडल स्तरीय गणतंत्र दिवस की तैयारियां अंतिम चरण में है और आज एसएमएस लबाणा कालेज बराड़ा में स्कूली बच्चों ने इस समारोह के सांस्कृतिक कार्यक्रमों और पी.टी.शो का अभ्यास किया। उपमंडल स्तरीय इस कार्यक्रम की फुलड्रैस रिहर्सल 24 जनवरी को बराडा अनाज मंडी में आयोजित की जाएगी।
बीईओ रामप्रकाश ने बताया कि बच्चे निरंतर अपने विद्यालयों में भी सांस्कृतिक कार्यक्रमों का अभ्यास कर रहे हैं। उन्होंने बताया कि फुलड्रैस रिहर्सल नई अनाज मंडी बराड़ा में करवाई जाएगी, जिसमें उपमंडल के वरिष्ठ अधिकारी इसका अवलोकन करेंगे। उन्होंने बताया कि बराड़ा के इस उपमंडल स्तरीय गणतंत्र दिवस समारोह में 26 जनवरी को एसडीएम गिरीश कुमार ध्वजारोहण करेंगे व परेड की सलामी लेंगे।
इस गणतंत्र दिवस समारोह में सांस्कृतिक कार्यक्रमों के तहत राजकीय सीनियर सैकेंडरी स्कूल होली द्वारा हरियाणा नृत्य मेरी सास के पांच पुत्र, सुखपाल सीनियर सैकेंडरी स्कूल उगाला के विद्यार्थियों द्वारा प्लास्टिक का प्रयोग न करने बारे सक्रीप्ट, जय पब्लिक स्कूल के विद्यार्थियों द्वारा गु्रप डांस उम्मीदों के पंख, पी.एस.सी. जैन के बच्चों द्वारा ग्रुप डांस कर हर मैदान फतेह बंदेया, एसएमएस कालेज बराडा के बच्चों द्वारा सारे जहां से अच्छा हिंदुस्तान हमारा, खानअहमदपुर स्कूल के बच्चों द्वारा भंगड़ा, डीएवी स्कूल बराडा के बच्चों द्वारा कोमल हैं कमजोर नहीं, शक्ति का नाम ही नारी है, राजकीय माडल संस्कृति वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बराडा के बच्चों द्वारा तेरी मिट्टी में मिल जाउं की बेहतर प्रस्तुति दी जायेगी।
गुरूकुल अलियासपुर, माडल स्कूल अधोया व डीएवी स्कूल बराड़ा के बच्चों द्वारा योगा, खानअहमदपुर के बच्चों द्वारा टिपरी, राजकीय माडल संस्कृति स्कूल बराडा के बच्चों द्वारा पीटी व राजकीय कन्या हाई स्कूल के बच्चों द्वारा डम्बल व डीएवी स्कूल बराडा के विद्यार्थियों द्वार सूर्य नमस्कार की प्रस्तुति दी जायेगी।
इस अवसर पर आईटीआई प्रिंसीपल होली राम कुमार, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय बराडा के प्रिंसीपल राजबीर सिंह, प्राध्यापक मंजू, तरूण कौशल, नवीन कुमार सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।