त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन-2020 अति संवेदनशील क्षेत्रों में स्थानीय कर्मचारियों की लगेगी ड्यूटी मैदानी क्षेत्र के विकासखण्डों के मतदान अधिकारी दूसरे क्षेत्रों में करेंगे ड्यूटी
January 22nd, 2020 | Post by :- | 67 Views

छत्तीसगढ़(कांकेर) टोकेश्वर साहू । त्रिस्तरीय पंचायत आम निर्वाचन को सुचारू रूप से संपन्न कराने के लिए जिले के भानुप्रतापपुर, दुर्गूकोंदल, अंतागढ़ एवं कोयलीबेड़ा विकासखण्ड अतिसंवेदनशील क्षेत्र होने तथा क्षेत्र में पदस्थ अधिकारी-कर्मचारियों को वहाॅ का भौगोलिक ज्ञान होने के फलस्वरूप मतदान दल के पीठासीन अधिकारी तथा मतदान अधिकारी क्रमांक एक, दो और तीन की ड्यूटी उनके पदस्थापना विकासखण्ड में लगाने की सहमति छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा प्रदान की गई है। आयोग के निर्देशानुसार जिले के शेष विकासखण्ड कांकेर, चारामा एवं नरहरपुर के मतदान दल के

पीठासीन अधिकारी तथा मतदान अधिकारी क्रमांक एक, दो और तीन की ड्यूटी दूसरे विकासखण्डों में लगाये जाएंगे। त्रिस्तरीय पंचायत निर्वाचन में मतदान संपन्न कराने के लिए रिजर्व मतदान दल सहित है कि कांकेर विकासखण्ड में 168 मतदान केन्द्रों के लिए 180 मतदान दल, चारामा विकासखण्ड के 133 मतदान केन्द्रों के लिए 160 मतदान दल, नरहरपुर विकासखण्ड में 132 मतदान केन्द्रों के लिए 170 मतदान दल, भानुप्रतापपुर विकासखण्ड में 116 मतदान केन्द्रों के लिए 128 मतदान दल, दुर्गूकोंदल विकासखण्ड में 88 मतदान केन्द्रों के लिए 98 मतदान दल, अंतागढ़ विकासखण्ड में 116 मतदान केन्द्रों के लिए 128 मतदान दल और पखांजूर (कोयलीबेड़ा) विकासखण्ड में 199 मतदान केन्द्रों के लिए 220 मतदान दल बनाये गये हैं।

छत्तीसगढ़ राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा दिये गये निर्देशो के परिपालन में कांकेर विकासखण्ड के 145 मतदान दल के अधिकारी-कर्मचारियों की ड्यूटी चारामा विकासखण्ड में लगाई गई है। इसी प्रकार चारामा विकासखण्ड के 145 मतदान दल की ड्यूटी नरहरपुर विकासखण्ड में तथा नरहरपुर विकासखण्ड के 170 मतदान दल और चारामा विकासखण्ड के 15 मतदान दल की ड्यूटी कांकेर विकासखण्ड में लगाई गई है

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।