गृह मंत्री अनिल विज के दरबार में पहुंचा नूह पुलिस का मामला
January 21st, 2020 | Post by :- | 165 Views
नूंह मेवात , ( लियाकत अली )  ।  जिला मुख्यालय नूह शहर में स्थित अरावली कालोनी में मामूली कहासुनी को लेकर पडोसी के साथ हुए झगड़े में दर्ज हुए छेड़छाड़ के झूठे मामले में पुलिस द्वारा एसआईटी गठित होने के बावजूद भी चार महीने में इंसाफ ना मिलने पर पीडि़त आस मोहम्मद ने रविवार को गृहमंत्री अनिल विज के निवास स्थान अंबाला पर पहुंच कर अपना दर्द बयां कर इंसाफ की गुहार लगाई।
 गृह मंत्री को दी शिकायत में पीडि़त आस मोहम्मद ने बताया कि लगभग चार महीने पहले उसका पाइप लाइन को लेकर पड़ोसी के साथ झगड़ा हुआ था। पीडि़त का आरोप है कि उसके साथ ही झगड़े में घर में घुसकर आरोपियों द्वारा मारपीट की गई और उसी के 19 वर्षीय बेटे पर छेड़छाड़ का झूठा मामला दर्ज करा दिया गया। जिसे खारिज कराने व आरोपियों द्वारा मारपीट के मामले में गिरफ्तारी के लिए पीडि़त ने पहले तो नूह के लघु सचिवालय के सामने धरना दिया, जिसके बाद नूह  पुलिस ने मामले को निष्पक्ष तरीके से सुलझाने के लिए एसआईटी गठित कर दी। उसका आरोप है कि एसआईटी ने भी उसे कई महीने में इंसाफ नहीं दिया। जिसके बाद उसने एसपी संगीता कालिया से गुहार लगाई। आरोप है कि वहां से भी इंसाफ नहीं मिला, जिसके कारण पीडि़त आस मोहम्मद को तंग आकर गृहमंत्री अनिल विज से मुलाकात करनी पड़ी। पीडि़त ने बताया कि गब्बर की तरफ उसे जल्द इंसाफ दिलाने का आश्वासन दिया गया है। वहीं पीडि़त ने चेतावनी देते हुए कहा कि यदि अब भी उसे इंसाफ नहीं मिला तो अगला धरना गृहमंत्री अनिल विज के निवास स्थान पर ही दिया जाएगा। अब देखने वाली बात होगी कि पीडि़त को गब्बर के दरबार में गुहार लगाने के बावजूद भी खाकी से इंसाफ मिल पाता है या नहीं।

मेवात जिले की ताजा खबर  वीडियो में भी देखें  नीचे दिए गए लिंक पर किलिक  कर देखें  ,चेंनल को सब्सक्राइब जरूर करें।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।