मुख्यमंत्री हेल्पलाईन से पहले तीन महीने में हुआ 30 हजार से अधिक जनसमस्याओं का समाधान : महेन्द्र सिंह ठाकुर
January 21st, 2020 | Post by :- | 251 Views

धर्मपुर (मंडी)(दिलाराम भारद्वाज)21 जनवरी : सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, बागवानी व सैनिक कल्याण मंत्री महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन-1100 के आरम्भ होने के पहले तीन माह के भीतर ही 30,303 शिकायतों पर तुरन्त कार्रवाई कर उनका समाधान किया जा चुका है।

वे मंगलवार को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र के बरच्छवाड़, टिहरा और पाड़छू इलाकों में जनसमस्याएं सुनते समय लोगों से मुखातिब थे। इस दौरान उन्होंने अधिकतर समस्याओं का मौके पर समाधान किया। इसके अलावा उन्होंने 24 जनवरी को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर के प्रस्तावित दौरे की तैयारियों का जायजा लिया।
उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार को जनता के और समीप लाने तथा प्रदेश के नागरिकों की समस्याओं का त्वरित समाधान करने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री सेवा संकल्प हेल्पलाईन-1100 आरम्भ की गई है। प्रदेश के किसी भी कोने में बैठा व्यक्ति टोल फ्री नम्बर-1100 पर कॉल करके अपनी शिकायत दर्ज करवा सकता है।
महेन्द्र सिंह ठाकुर ने कहा कि हिमाचल इस प्रकार की हेल्पलाईन सेवा आरम्भ करने वाला देश का चौथा राज्य है। मुख्यमंत्री स्वयं इस हेल्पलाईन की समीक्षा कर रहे हैं ताकि इस हेल्पलाईन की कार्यप्रणाली को ओर चुस्त-दुरूस्त किया जा सके।

सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य मंत्री ने अधिकारियों को धर्मपुर विधानसभा क्षेत्र में मुख्यमंत्री के कार्यक्रम के सफल आयोजन के लिए सभी तैयारियां समय रहते पूरी करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि इस दौरान सिंचाई एवं जन स्वास्थ्य, सैन्य प्रशिक्षण अकादमी, हिमाचल पथ परिवहन कार्यशाला, इनडोर स्टेडियम, दारपा-बकारटा सड़क तथा सीर खड्ड पर जो शिलान्यास होने हैं, उनके शिलान्यास कार्यक्रम से जुड़ी तैयारियां अविलंब पूरी करें।
इस दौरान सरकाघाट के एसडीएम जफर इकबाल, तहसीलदार दीना नाथ, बीडीओ तवेन्दर चिनौरिया, अधीशाषी अभियन्ता आईपीएच एलआर शर्मा, अधीशाषी अभियन्ता पीडब्लयूडी पी.पी. सिंह, प्रधानाचार्य आर.सी. ठाकुर सहित अन्य लोग उपस्थित थे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।