मंत्री अनिल विज ने कहा कि साईंस उद्योग अम्बाला की आत्मा है।
January 20th, 2020 | Post by :- | 93 Views

अम्बाला: अशोक शर्मा

गृह, शहरी स्थानीय निकाय एवं स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने कहा कि साईंस उद्योग अम्बाला की आत्मा है और इस उद्योग की वजह से ही अम्बाला गुलजार है। बच्चों की साईंस में रूची बढ़े इसके लिए 35 करोड़ रूपये की लागत से अम्बाला-दिल्ली मार्ग पर शहीदी स्मारक के नजदीक बेहतरीन विज्ञान केन्द्र बनाया जा रहा है। इस भवन का नक्शा तैयार हो चुका है और यह इमारत पूरे भारत में अनोखी होगी। श्री विज रविवार देर  सांय साईंटिफिक एपरेटस मेनुफेक्चरर एंड एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन अलफ अम्बाला की ओर से आयोजित एक शाम शान ए अम्बाला के नाम आयोजित कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि बोल रहे थे। यहां पहुंचने पर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने मुख्य अतिथि को स्मृति चिन्ह व शाल भेंट कर उनका स्वागत किया।
श्री विज ने इस मौके पर कहा कि उभरते अम्बाला में साईंटिफिक उद्योग अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभा रहा है। उन्होंने कहा कि समय के अनुरूप अम्बाला का साईंटिफिक उद्योग निरंतर प्रगति के पथ पर अग्रसर है। उन्होंने कहा कि कोई भी देश साईंस के बिना तरक्की नहीं कर सकता। उन्होंने कहा कि चाहे इंजिनियर, डॉक्टर, वैज्ञानिक बनना हो, उनमें साईंस से सम्बन्धित उपकरणो का प्रयोग किया जाता है  और इन साईंटिफिक उपकरणो के बिना ऊंचाईयों को छुआ नही जा सकता। उन्होंने कहा कि साईंस से सम्बन्धित सबसे ज्यादा उपकरण अम्बाला में बनाए जाते हैं यह गर्व की बात है। उन्होंने यह भी कहा कि कोई देश इसलिए ताकतवर नही होता कि उसका क्षेत्रफल ज्यादा है बल्कि इसलिए ताकतवर होता है कि वह साईंस के क्षेत्र में आगे है। उन्होंने कहा कि साईंस के क्षेत्र में विद्यार्थियों की रूचि बढ़े व साईंस विशेषज्ञों को साईंस के नियमों के बारे विस्तार से जानकारी मिल सके इसके लिए अम्बाला छावनी में वार मैमोरियल के नजदीक 5 एकड़ में 35 करोड़ रुपए की लागत विज्ञान केन्द्र बनाया जा रहा है जोकि बेहतरीन होगा।
उन्होंने इस अवसर पर यह भी बताया कि साहा ग्रोथ सैंटर में मैटल शीट कंटिग क्लस्टर का आज ही शुभारम्भ किया है और इस कलस्टर के लगने से साहा ग्रैथ सैन्टर के साथ-साथ आस पास के क्षेत्र के उद्योगों को इसका लाभ मिलेगा। इस यूनिट में जो उत्पाद तैयार होगा उसकी गुणवत्ता बेहतर होने के साथ-साथ उसकी लागत भी कम हैं। उन्होंने कहा कि इस तरह के कलस्ट लगाने के लिए सरकार द्वारा ग्रांट भी दी जाती हैं। उन्होंने साईंस एसोसिएशन के पदाधिकारियों को कहा कि साईंस उद्योग बेहतर तरीके से और आगे बढ़े इसके लिए वे योजना तैयार करें उसको क्रियान्व्ति करने के लिए जिस तरह की सहायता की जरूरत होगी वह उनका पूरा सहयोग करेंगें। इस मौके पर एसोसिएशन के पदाधिकारियों ने 18 प्रतिशत जीएसटी को 5 प्रतिशत किए जाने बारे, साइंटिफिक ट्रेनिंग सेंटर सहित कुछ अन्य मांगों बारे मंत्री को अवगत करवाया। साईंटिफिक एपरेटस मेनुफेक्चरर एंड एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के अध्यक्ष उमेश गुप्ता ने मुख्यअतिथि का यहां पहुंचने पर स्वागत करते हुए समय-समय पर उनका सहयोग दिए जाने का आभार व्यक्त किया। उन्होंने कहा कि जब भी  एसोएिशन द्वारा जो भी मांग या समस्या रखी गई है गृह मंत्री ने उस मांग को पूरा करने का काम किया  है। इस मौके पर एसोसिएशन के अश्वनी नागपाल, अशोक गुप्ता, सुभाष जैन, शैलेंद्र जैन, सुमित अग्रवाल, महेश सिंगल, अमित जैन, दिनेश अग्रवाल, सतीश कुमार, राकेश लांबा, मीडिया कोडिनेटर विजेंद्र चौहान, साहिल अग्रवाल, अनिल कौशल, मगेश गोयल, ए.पी.बंसल सहित अन्य गणमान्य लोग मौजूद रहे।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।