मिस्त्रियों को दिया जायेगा भूकम्परोधी भवन निर्माण का प्रशिक्षण
January 20th, 2020 | Post by :- | 145 Views

कुल्लू (दिलाराम भारद्वाज) 20 जनवरी – कुल्लू के सेऊबाग मे भूकंपरोधी भवन निर्माण को बढ़ावा देने तथा इस संबंध में मिस्त्रियों को प्रशिक्षित करने के लिए जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण की ओर से बहुतकनीकी प्रशिक्षण संस्थान सेउबाग में छह दिवसीय कार्यशाला आयोजित की जा रही है। सोमवार को आरंभ हुई इस कार्यशाला में गाहर, कराड़सू, काईस, रायसन, दुआड़ा, बैंची और बनोगी के कुल 25 मिस्त्रियों को गृहनिर्माण की सुरक्षित तकनीकों के बारे में विस्तृत जानकारी प्रदान की जायेगी।
कार्यशाला का शुभारंभ करते हुए एसडीएम अनुराग चंद्र शर्मा ने कहा की राजमिस्त्री भवन निर्माण प्रक्रिया की सबसे महत्वपूर्ण कड़ी होते हैं। इसलिए राजमिस्त्रियों को कम लागत में भूकंपरोधी भवन निर्माण की सभी जानकारियां उपलब्ध करवाना आवश्यक है, ताकि वे इस तकनीक का अधिक से अधिक उपयोग भवन निर्माण में कर सकें। उन्होंने प्रशिक्षण ले रहे राजमिस्त्रियों से कहा कि वे प्रशिक्षण में सिखाई जा रही भूकंपरोधी भवन निर्माण तकनीक की बारीकियों को गहनता से सीख कर अपने अन्य साथी मिस्त्रियों को भी सिखाएं।
कार्यशाला में मिस़्ित्रयों को नींव डालने तथा सरिये को बांधने की तकनीक के बारे में बताया जाएगा, यह जानकारी जिला आपदा प्रबंधन प्राधिकरण कुल्लू के समन्वयक प्रशांत सिंह ने सांझा की। कार्यशाला में बहुतकनीकी संस्थान कुल्लू के सिविल विभाग के विभागाघ्यक्ष सतीश ढींगरा, सिविल विभाग के लेक्चरर लोकेश शर्मा और रितेश विष्ट, कानूनगो संुदर सिंह ठाकुर और आपदा प्रबंधन प्राधिकरण के लेखन समन्वयक राकेश कुमार उपस्थित रहे ।

कृपया अपनी खबरें, सूचनाएं या फिर शिकायतें सीधे editorlokhit@gmail.com पर भेजें। इस वेबसाइट पर प्रकाशित लेख लेखकों, ब्लॉगरों और संवाद सूत्रों के निजी विचार हैं। मीडिया के हर पहलू को जनता के दरबार में ला खड़ा करने के लिए यह एक सार्वजनिक मंच है।